बिहार शरीफ के सदर अस्पताल में एक साथ पहुंच गए दर्जनों डीएसपी रैंक के अधिकारी, एक साथ इतने अधिकारियों को देख लोग भी हो गए हैरान

बिहार शरीफ के सदर अस्पताल में एक साथ पहुंच गए दर्जनों डीएसपी रैंक के अधिकारी, एक साथ इतने अधिकारियों को देख लोग भी हो गए हैरान

NALANDA /BIHARSHARIF : किसी जगह पुलिस की छोटी सी टीम भी पहुंच जाए तो लोगों में चर्चा शुरू हो जाती है। बिहार शरीफ के सदर अस्पताल में एक दो नहीं, बल्कि दर्जनों की संख्या में डीएसपी रैक के अधिकारी वर्दी पहने पहुंच गए। जिसे देखने के बाद ऐसा लगा कि कोई वीआईपी मूवमेंट होनेवाला है। हालांकि बाद में पता चला कि यहां कोई वीआईपी मूवमेंट नहीं था। बल्कि सारे पुलिस अधिकारी दूसरी वजह से यहां पहुंचे थे।

दरअसल, बिहार पुलिस एकेडमी में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे ट्रेनी डीएसपी का एक जत्था शुक्रवार को बिहार शरीफ सदर अस्पताल पहुंचा था। जहां उन्होंने चिकित्सक की मदद से शव उठाने से पहले और पोस्टमार्टम के बाद की सारी प्रक्रिया की  जानकारी हासिल की। अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि दुर्घटनाग्रस्त व लावारिस शवों को किस परिस्थिति में और कैसे उठायें। बॉडी उठाने के पहले पूर्ण निरीक्षण करें। शव किस हालात में है। अगल-बगल छानबीन कर लें कहीं कुछ साक्ष्य मिल जाये। आसपास के लोगों से जानकारी हासिल कर लें। ताकि उस आधार पर आगे की कार्रवाई की जा सके। 

 पुलिस एकेडमी के सूबेदार के. के पाण्डेय के साथ आये ट्रेनी डीएसपी ने फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (एफएसएल) से जुड़े मामलों की जानकारी ली। इस दौरान सभी प्रशिक्षु डीएसपी को पोस्टमार्टम रूम में रखे शवों को बारीकियों से देखा व पोस्टमार्टम के बारे में जानकारी प्राप्त की । सूबेदार पांडेय ने बताया कि एफएसएल की जानकारी ट्रेनिंग का एक हिस्सा है। इससे बहुत हद तक केस के अनुसंधान में मदद मिलती है ।

Find Us on Facebook

Trending News