राष्ट्रीय मार्गदर्शक डॉ इंद्रेश कुमार जी के नेतृत्व में नवंबर में होगी मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की नई कमेटी की घोषणा

राष्ट्रीय मार्गदर्शक डॉ इंद्रेश कुमार जी के नेतृत्व में नवंबर में होगी मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की नई कमेटी की घोषणा

PATNA : मुस्लिम राष्ट्रीय मंच (आरएसएस) के बिहार झारखंड क्षेत्रीय संयोजक अल्तमस बिहारी व बिहार प्रदेश के नवमनोनीत प्रदेश संयोजक सरवर जमाल ने आज संयुक्‍त प्रेस वार्ता कर नवंबर में मंच की नई कमेटी की घोषणा की जानकारी दी। उन्‍होंने बताया‍ कि ये कमेटी राष्ट्रीय मार्गदर्शक डॉ इंद्रेश कुमार जी नेतृत्‍व में बनेगी। उन्‍होंने कहा कि आज मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के 23 राज्यों में एवं केंद्र शासित प्रदेशों में 350 वरिष्ठ पदाधिकारी तथा जिलों में 2000 से अधिक इकाइयां हैं। अब इस संगठन से जुड़ने वालों की संख्या लाखों को पार कर करोड़ों के तरफ बढ़ रही है। बिहार के 38 जिलों में खासतौर पर सीमांचल क्षेत्रों में एवं मिथिलांचल क्षेत्रों में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच बहुत मजबूती से कार्य कर रही है।


उन्होंने कहा कि मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की स्थापना सन 2002 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पांचवे सरसंघचालक स्वर्गीय डॉक्टर को सूर्यदर्शन जी के समय शुरुआत की गई थी। उस समय देश  एवं देश के कई प्रांतों में NDA का शासन था। साथ ही आतंकवाद चरम सीमा पर थी। मुसलमानों को लोग शक की निगाहों से देखा करते थे। हवाई जहाजों में हवाई अड्डों पर एवं रेल स्टेशनों पर दाढ़ी टोपी वाले मुसलमानों का सघन जांच भी किया जाता था। ऐसे समय में संघ ने मुसलमानों को मुख्यधारा में जुड़ने के लिए मुसलमानों के द्वारा मुसलमानों के लिए इस संगठन का प्रस्ताव दिया।


उन्‍होंने आगे कहा कि साथी संघ और मुसलमानों के बीच जो नफरत फैलाई जाती थी। इस को बांटने के लिए इस संगठन के मार्गदर्शक के रूप में अपने अखिल भारतीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य डॉ इंद्रेश कुमार जी को सौंपा। बिहार राज्य राष्ट्रीय आदेश पर सभी कार्यक्रमों पर बखूबी अंजाम देती रही है, जिसका परिणाम है कि संगठन ने बिहार के प्रदेश संयोजक रहे अल्लमस बिहारी का पदोन्नति कर उन्हें बिहार झारखंड का क्षेत्रीय संयोजक मनोनीत किया और मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के सिवान जिला संयोजक सरवर जमाल के कुशल कार्य को देखते हुए वर्तमान समय में इन्हें बिहार प्रदेश संयोजक का दायित्व दिल्ली के हरियाणा भवन में मंच के मार्गदर्शक डॉ इंद्रेश कुमार जी के द्वारा मनोनयन किया गया था। 


उन्‍होंने कहा कि अगले माह नवंबर में राष्ट्रीय मार्गदर्शक डॉ इंद्रेश कुमार जी के नेतृत्व में नई कमेटी की घोषणा की जाएगी। साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर मंच के 13 प्रकोष्ठ का भी घोषणा किया जाएगा। मेरी प्राथमिकता होगी कि मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के द्वारा चलाए गए अभियान जैसे - ट्रिपल तलाक, धारा 370, राम मंदिर निर्माण, मुसलमानों के अंदर राष्ट्रीयता के प्रति जागृति के लिए मुस्लिम मोहल्लों में 15 अगस्त व 26 जनवरी को तिरंगा लहराना राष्ट्रीय गान के साथ-साथ मुस्लिम क्रांतिकारियों ने आजादी की लड़ाई में कुर्बानी दी हैं, उनकी जीवनी पर मुस्लिम बच्चों के बीच लेखन तथा भाषण प्रतियोगिता करा कर उन्हें अपने पूर्वजों के बारे में जानकारी देना मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की यह जिम्मेदारी है।


उन्‍होंने कहा कि ज्यादा मुस्लिम आबादी वाले क्षेत्रों को मिनी पाकिस्तान शब्द का प्रयोग मुसलमान न करें। इसके लिए भी जागरूकता देना उदेश है साथ-साथ शिक्षा एवं कौशल विकास कार्यक्रम भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं पर भी विशेष ध्यान आकर्षित करने की प्रयासरत है। मुस्लिम राष्ट्रीय मंच तालीम और तहजीब का मंदिर स्कूल खुलेगा साथ ही स्वरोजगार, सीता रसोई, यतीम खाना और सामूहिक विवाह कराने का भी लक्ष्य रखा गया है। बिहार प्रदेश संयोजक सरवर जमाल ने इस प्रेस वार्ता के माध्यम से हिंदू मुस्लिम एकता पर विशेष जोर देते हुए देश को प्रगति शांति समंता के रास्ते पर लाने का भी आह्वान किया।

Find Us on Facebook

Trending News