डा. शकील अहमद का दावा: वे मधुबनी से निर्दलीय चुनाव जीतकर भी कांग्रेसी ही रहेंगे

डा. शकील अहमद का दावा: वे मधुबनी से निर्दलीय चुनाव जीतकर भी कांग्रेसी ही रहेंगे

पटना- कांग्रेस नेता और मधुबनी से निर्दलीय उम्मीदवार डा. शकील अहमद ने कहा है कि वे पुराने कांग्रेसी हैं और आगे भी रहेंगे. अगर वो चुनाव जीतते हैं तो वे कांग्रेसी ही रहेंगे. शकील अहमद ने महागठबंधन प्रत्याशी को कमजोर करार देते हुए कहा कि महागठबंधन की तरफ से वीआईपी ने मधुबनी में कमजोर उम्मीदवार को मैदान में उतारा है.

मधुबनी से उम्मीदवार पूर्व केंद्रीय मंत्री डा. शकील अहमद ने कहा कि वे कांग्रेस के लिए ही निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं. अगर वे चुनाव नहीं लड़ते तो बीजेपी की आसानी से जीत हो जाती. इसलिए मजबूरी में बीजेपी को रोकने के लिए वे मैदान में उतरे हैं.

आपको बता दें कि शकील अहमद कांग्रेस के टिकट पर मधुबनी से चुनाव जीत चुके हैं. इस बार भी वे मधुबनी से प्रबल दावेदार थे. लेकिन महागठबंधन के भीतर सीट बंटवारे में उक्त सीट वीआईपी के खाते में चली गई. वीआईपी की तरफ से बद्री प्रसाद पूर्वे को उम्मीदवार बनाया है.

मधुबनी की सीट वीआईपी के खाते में जाने के बाद डा. शकील अहमद ने निर्दलीय चुनाव लड़ने का एलान किया. इसके बाद उन्होंने पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता के पद से इस्तीफा देकर निर्दलीय नामांकन दाखिल कर दिया है और मैदान में उतर गए हैं. 

Find Us on Facebook

Trending News