द्रौपदी मुर्मू पर विधायकों को रिश्वत और प्रलोभन देने का आरोप, कांग्रेस ने चुनाव आयोग में की शिकायत

द्रौपदी मुर्मू पर विधायकों को रिश्वत और प्रलोभन देने का आरोप, कांग्रेस ने चुनाव आयोग में की शिकायत

DESK. राष्ट्रपति पद की एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू पर राष्ट्रपति चुनाव में विधायकों को प्रलोभन देने की शिकायत दर्ज कराई गई है. 18 जुलाई को हुए राष्ट्रपति चुनाव के नतीजे 21 जुलाई को आने हैं. इसके पूर्व कर्नाटक कांग्रेस की ओर से मुर्मू और कुछ अन्य भाजपा नेताओ को खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई गई है. द्रौपदी मुर्मू और अन्य के खिलाफ 18 जुलाई के राष्ट्रपति चुनाव में कानून के प्रावधानों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई गई है. 

कांग्रेस ने आरोप लगाया कि कर्नाटक में सत्तारूढ़ भाजपा ने 17 और 18 जुलाई को अपने विधायकों को रिश्वत दी और अनुचित प्रभाव डाला. कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया और कर्नाटक कांग्रेस अध्यक्ष डी के शिवकुमार ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया कि जो विधायक मतदाता थे, उन्हें एक पांच सितारा होटल में शानदार तरीके से ठहरने की व्यवस्था की गई थी. यह एक प्रकार की रिश्वत या प्रलोभन था. 

उन्होंने आरोप लगाया कि एनडीए उम्मीदवार मुर्मू के लिए कर्नाटक मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नलिन कुमार कटिल, भाजपा के वरिष्ठ नेता बी एस येदियुरप्पा, विधानसभा में भाजपा के मुख्य सचेतक सतीश रेड्डी आदि ने भाजपा के सभी विधायकों को बेंगलुरु के एक पांच सितारा होटल में तलब किया और राष्ट्रपति चुनाव में मतदान पर विधायकों को प्रशिक्षण सत्र की आड़ में आलीशान कमरे, खाना, शराब, पेय पदार्थ, मनोरंजन मुहैया कराया.

शिकायत में कहा गया है कि 18 जुलाई की सुबह, लगभग सभी मंत्री, विधायक और भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेता सरकारी स्वामित्व वाली बेंगलुरु मेट्रोपॉलिटन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन की वातानुकूलित बस में होटल से विधान सौधा तक अपने चुनावी अधिकारों का प्रयोग करने के लिए आए थे. उन्होंने आरोप लगाया, "भाजपा नेताओं की ये सभी हरकतें द्रौपदी मुर्मू की ओर से चुनाव विवरणिका को आगे बढ़ाने के लिए मतदाताओं/विधायकों पर घूसखोरी और अनुचित प्रभाव के अलावा और कुछ नहीं है.

शिकायत में कहा गया है कि इन कृत्यों से, भाजपा नेतृत्व ने मतदाताओं या विधायकों के चुनावी अधिकारों के स्वतंत्र प्रयोग में हस्तक्षेप किया है, और उन पर एक फाइव स्टार होटल में एक बड़ी राशि खर्च की गई थी. नेताओं ने चुनाव आयोग से "एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू सहित सीएम बोम्मई, येदियुरप्पा, नलिन और रेड्डी द्वारा किए गए चुनावी अपराधों" का संज्ञान लेने की अपील की गई. 

उन्होंने राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति चुनाव अधिनियम, 1952 के प्रावधानों के साथ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत उनके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने की भी मांग की. सिद्धारमैया और शिवकुमार ने चुनाव आयोग से राष्ट्रपति चुनाव के रिटर्निंग ऑफिसर को एनडीए उम्मीदवार के पक्ष में डाले गए सभी वोटों को "स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के हित में" अवैध मानने का निर्देश देने की भी मांग की है. 


Find Us on Facebook

Trending News