दुबई के शाही परिवार की कंपनी सीड ग्रुप ने भारत में संचालन के लिए रवि रंजन को बनाया निदेशक, बेंगलुरु में कार्यालय भी खुलेगा

दुबई के शाही परिवार की कंपनी सीड ग्रुप ने भारत में संचालन के लिए रवि रंजन को बनाया निदेशक, बेंगलुरु में कार्यालय भी खुलेगा

Desk. शेख सईद बिन अहमद अल मकतूम के निजी कार्यालय की एक कंपनी सीड ग्रुप ने भारतीय उपमहाद्वीप में उद्यमिता और एसएमई इकोसिस्टम के क्षेत्र में प्रसिद्ध रवि रंजन को निदेशक (रणनीतिक साझेदारी) के पद पर नियुक्त किया है तथा भारत में कंपनी के संचालन का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी भी उन्हें सौंपी गयी है। व्यापार की दृष्टि से रणनीतिक विस्तार योजनाओं के हिस्से के रूप में दुबई मुख्यालय वाला सीड ग्रुप दक्षिण भारतीय शहर बेंगलुरु में अपना आधिकारिक प्रतिनिधि कार्यालय भी स्थापित करेगा।

सीड ग्रुप के आधिकारिक प्रतिनिधि के रूप में रवि रंजन संयुक्त अरब अमीरात और मध्य पूर्वी बाजार के लिए अनुकूल उत्पाद या सेवा रखने वाले व्यवसाय / व्यापारियों/उद्यमियों को चिन्हित कर उनसे संवाद की स्थापना कर भारत और संयुक्त अरब अमीरात के अवसरों के बीच एक सेतु के रूप में कार्य करेंगे।

अपनी नियुक्ति के बारे में बात करते हुए रवि रंजन ने कहा, “मुझे जो अवसर मिला है, मैं उसे लेकर उत्साहित हूं। सीड ग्रुप के साथ यह जिम्मेदारी मेरे लिए पेशेवर प्रगति का भी एक सुअवसर है, जहां मैं  विकास की और अग्रसर रहने की चाह रखने वाले व्यवसायों / उधमीयो की पहचान और सहायता कर सकता हूं, जो आगे सीड ग्रुप के प्रभावशाली तथामजबूत नेटवर्क और विशेषज्ञता का लाभ उठा सकते हैं।

उन्होंने आगे कहा, "भारत वर्तमान में दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा स्टार्ट-अप इकोसिस्टम है और यह अवसर उद्योगकता से जुड़े हुए लोगों को सीड ग्रुप की कुशलता का लाभ उठाने में मदद करेगा।" व्यवसाय और उद्यमिता के क्षेत्र में निजी और सरकारी संस्थाओं / व्यक्तियों को सलाह देने के एक दशक से अधिक के अनुभव के साथ रवि रंजन अमेरिकी सरकार द्वारा प्रतिष्ठित आईवीएलपी कार्यक्रम का हिस्सा बनने के लिए भारत के कुछ चुनिंदा व्यक्तियों में से एक हैं।

एक प्रशंसित टेडएक्स स्पीकर, सरकारी सलाहकार और स्टार्टअप विशेषज्ञ रहते हुए उन्होंने अब तक वेंचर उत्प्रेरक, नैसकॉम 10,000 स्टार्टअप, इंडियन एंजेल नेटवर्क, इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स और भारत में विभिन्न राज्य सरकारों जैसे संगठनों के लिए स्टार्टअप परियोजनाओं का प्रबंधन किया है। रवि रंजन सीड ग्रुप के मार्गदर्शन और तत्वावधान में एक मजबूत भारत-मध्य पूर्व व्यापार विस्तार गलियारे के निर्माण की दिशा में काम करेंगे।

पास्कल वार्नबोल्ड, मार्केटिंग मैनेजर, सीड ग्रुप ने कहा, “अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर विस्तार करने के हमारे व्यापक लक्ष्य में, भारत में कार्यालय खोलना एक महत्वपूर्ण कदम है और रवि रंजन की नियुक्ति एक मील का पत्थर है। यह नियुक्ति हमें भारतियों के एक बहुत बड़े समुदाय की मदद करेगी, जो व्यापार मालिकों और उद्यमियों के रूप में यूएई की अर्थव्यवस्था में योगदान करते हैं। यह दोनों देशों के बीच व्यापार अंतराल को कम करने और लोगों के लिए दुबई में अपने व्यवसाय को लाने या राष्ट्रों के बीच व्यापार करने के लिए इसे सहज बनाने का हमारा प्रयास है।”

सीड ग्रुप ने मध्य पूर्व में प्रौद्योगिकी, स्वास्थ्य देखभाल, आतिथ्य और दूरसंचार परिदृश्य में उल्लेखनीय कार्यों का संपादन किया है और की जा रही है। पिछले 16 वर्षों में, इसने खाड़ी देशों के भीतर अपनी स्थायी बाजार प्रविष्टि और उपस्थिति में तेजी लाने के लिए विविध क्षेत्रों का प्रतिनिधित्व करने वाली प्रमुख वैश्विक कंपनियों के साथ सफल रणनीतिक गठबंधन बनाए हैं। सीड ग्रुप कृत्रिम बुद्धिमत्ता, मशीन लर्निंग, ब्लॉकचेन, दूरसंचार, आतिथ्य, रियल एस्टेट, स्वास्थ्य सेवा, फिनटेक, संपर्क रहित भुगतान और पर्यटन जैसे क्षेत्रों में काम करने वाली विविध पोर्टफोलियो वाली कंपनियों  के साथ काम करता है।

अपने सीईओ हिशाम अल गुर्ग के कुशल मार्गदर्शन में सीड ग्रुप दुनिया भर में कई मिलियन डॉलर के सौदों और अरबों के निवेश को प्रबंधित करने में सक्षम रहा है। सीड ग्रुप दुबई की स्थिर अर्थव्यवस्था, अनुकूल समय क्षेत्र, सहायक के लाभों का आनंद लेते हुए यूरोप, एशिया, मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका (एमईएनए) में विस्तार करने का इच्छुक है। साथ ही स्थापित व्यवसायों और स्टार्ट-अप के लिए एक स्प्रिंगबोर्ड के रूप में कार्य करता है। व्यापारियों / उद्यमीयों को स्वस्थ व्यापार इकोसिस्टम, आकर्षक सब्सिडी और नए बाजारों तक आसान पहुंच कराने का उल्लेखनीय काम सीड ग्रुप करता है।

रवि रंजन की नियुक्ति से बिहार और झारखंड के उद्यमियों के लिए नए अवसर ज़्यादा सुलभ होंगे वो इस क्षेत्र के लिए हमेशा प्रयासरत रहते हैं। कुछ दिन पूर्व ग्रांड ट्रंक रोड इनिशटिव्ज़ 2.० के क्युरेटर अदिति नन्दन जी के बुलावे पर शिरकत करने पटना आए थे और उनका कहना है कि बिहार के विकास लिए वो दोनों मिलकर काम करेंगे। बिहारी उद्यमियों के लिए फंड की कमी नहीं होगी।

Find Us on Facebook

Trending News