मोतिहारी : मछली मारने गए तीन युवकों की डूबने से मौत, परिजनों में मचा कोहराम

मोतिहारी : मछली मारने गए तीन युवकों की डूबने से मौत, परिजनों में मचा कोहराम

MOTIHARI : आज चारों तरफ धनतेरस की धूम मची है. वहीं पूर्वी चंपारण जिला के पीपरा कोठी थाना क्षेत्र के हरपूर में एक साथ तीन युवकों की मौत की खबर से कोहराम मचा गया है. पुरे गांव में मातम पसरा हुआ है. तीन घरों के चिराग को क्या पता था कि आज ही के दिन तीनों की मौत एक साथ एक ही जगह पर डूबने से हो जायेगी. तीनों युवक निम्न वर्गीय परिवार से आते हैं और मछली मारकर, मजदूरी कर अपने पूरे परिवार का भरण पोषण करते थे. दर्दनाक हादसे के संबंध में बताया जाता है कि थाना क्षेत्र के हरपुर स्थित भकुरहरा चवर में बीती रात मछली मारने निकले तीन युवकों की मौत गई है. ग्रामीणों ने काफी खोजबीन के बाद तीनों के शव को गुरुवार के शाम तीन बजे के आसपास उसी चवर से निकाला है. तीनों युवक एक ही पट्टीदारी के है. 


मृतकों में हरपुर डीह गांव निवासी मोहित महतो का 25 वर्षीय पुत्र गुड्डू महतो, महेंद्र महतो का पुत्र 17 वर्षीय विकास कुमार व स्व भोला महतो का 15 वर्षीय पुत्र भरत कुमार है. बताया जाता है कि तीनों अपने घर से करीब तीन बजे भोर में मछली पकड़ने के लिए निकले. लेकिन आज सुबह तक घर वापस नहीं लौटे तो घर वाले ने खोजबीन शुरू कर दिया. घर वाले सहित ग्रामीणों के काफी खोजबीन के बाद उक्त तीनों के शव को ग्रामीणों ने भूकरहरा चवर में शव को बरामद किया. बताया जाता है कि उक्त चवर के किनारे विद्युत के टूटे हुए तार पड़े नजर आए हैं. मौत की सूचना मिलते ही घटना स्थल पर लोगों की हुजूम उमड़ पड़ी. ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय थाना पुलिस को दिया. सूचना पर पहुंचे एएसआई एकबाली राय सदल बल पहुंच कर शव को अपने कब्जे में लेकर अंत्यपरीक्षण हेतु सदर अस्पताल मोतिहारी भेज दिया है. बताया जाता है कि मृतक सहित उसके परिवार के लोग उक्त चवर में मछली को मारकर अपने परिवार का भरण पोषण किया करते हैं. इसी को लेकर तीनों मछली मारने निकले थे. जहाँ यह हादसा हुआ. घटना के बाद पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है.

मोहित महतो का पुत्र गुड्डू कुमार जब मछली मारने चवर मे जा रहा था तो उसकी पत्नी मिन्ता देवी ने मना किया था. इसकी शादी दो साल पूर्व हुई थी. उसे एक छह माह की बच्ची राधा है. घटना की सूचना मिलते ही उसकी पत्नी का रो रोकर बुरा हाल हो गया है. वहीं पिता व माता शैल देवी की हालत खराब है. दुसरा महेन्द्र महतो का पुत्र विकेश कुमार अपने सात भाईयों के बीच छठा था. वह सभी के लिए दुलारा था जो आज सबको रुला रहा है. वही स्व भोला महतो का पुत्र भरत कुमार बडा पुत्र था. पिछले वर्ष पिता की मृत्यु के बाद परिवार का भरणपोषण अपने कंधे पर ले लिया था. इसके एक छोटा भाई व एक सात साल की बहन है जिसे पढाने के साथ घर परिवार चलाता था. तीनों परिवारों की स्थिति नाजुक है. इनके स्थिति को देखकर गांव के लोग भी रो रहे है. हालाँकि विद्युत् विभाग ने किसी प्रकार के तार टूटने की घटना से इनकार किया है. 


मोतिहारी से हिमांशु की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News