मोतिहारी में DEO और BEO की मेहरबानी से दर्जनों स्कूल में सीनियर के रहते जूनियर शिक्षक बने हैं हेडमास्टर, परिवाद दायर

मोतिहारी में DEO और BEO की मेहरबानी से दर्जनों स्कूल में सीनियर के रहते जूनियर शिक्षक बने हैं हेडमास्टर, परिवाद दायर

मोतिहारी. अरेराज बीईओ के मेहरबानी से उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय महराजगंज में वरीय शिक्षक के रहते कनीय शिक्षक एचएम के प्रभार में है। वहीं वरीय शिक्षक एचएम के प्रभार के लिए न्यायालय का चक्कर लगा रहे हैं। उत्क्रमित मध्यमिक विद्यालय महराजगंज के वरीय शिक्षक सुनील कुमार ने लोक जन शिकायत न्यायालय में परिवाद दायर किया था, जिसमें बताया है कि विद्यालय में वरीय शिक्षक के रहते बीईओ द्वारा कनीय शिक्षक को एचएम बनाया गया है, जो वरीयता में चौथे स्थान पर है।

लोक जन शिकायत में सुनवाई में वरीय शिक्षक को एचएम का प्रभार दिलाने के लिए बीईओ को निर्देश दिया गया है। बीईओ ने वरीय शिक्षक के रहते कनीय व शारीरिक शिक्षक बिरेंद मिश्र को एचएम का प्रभार का पत्र निकल दिया, जबकि विभाग से स्पष्ट निर्देश है कि शरीरिक शिक्षक को एचएम का प्रभार नहीं देना है। पीजीआरओ ने बीईओ के वरीय शिक्षक विद्यालय में रहते कनीय व शारीरिक शिक्षक को एचएम के प्रभार देने के पत्र पर कड़ी आपत्ति जताई गई। इस पर बीईओ ने वरीय को प्रभार नहीं दिलाते हुए डीईओ से मार्गदर्शन का पत्र भेजने के नाम पर प्रभार का पेंच फंसाया गया है।

सूत्रों की माने तो जिला शिक्षा कार्यालय व बीआरसी कार्यालय की मेहरबानी पर आधा दर्जन से अधिक विद्यालयों में वरीय के रहते कनीय शिक्षक एचएम के प्रभार में है।इसके एवज में प्रतिमाह मोटी रकम की अवैध वसूली होती है। एमडीएम में कहीं पचास तो कहीं डेढ़ सौ की हाजरी बनाकर कई विद्यालयों में खेच चल रहा है।

सरकार व विभाग के आदेश का कोई असर डीईओ व बीईओ पर नहीं है। अरेराज प्रखंड में एक दर्जन से अधिक विद्यालय में वरीय शिक्षक के रहते कनीय शिक्षक का मामला उठने पर छह माह पहले पूरी फाइल डीईओ द्वारा मंगवायी गया थी।लेकिन वरीय को प्रभार दिलाने के नाम पर उगाही का खेल में इतना है कि फाइल ही डंप कर दी गयी और स्थिति यथावत ही बनी रह गयी।

Find Us on Facebook

Trending News