तेजस्वी यादव की भाषा से नेता प्रतिपक्ष पद की गरिमा हो रही तार-तार : श्रवण अग्रवाल

तेजस्वी यादव की भाषा से नेता प्रतिपक्ष पद की गरिमा हो रही तार-तार : श्रवण अग्रवाल

PATNA : राष्ट्रीय लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्रवण अग्रवाल ने कहा की नेता प्रतिपक्ष का पद एक संवैधानिक पद है। तेजस्वी यादव अपने बयानों से पद की गरिमा तार-तार कर रहे हैं। संवैधानिक पद पर बैठकर अपराधियों की भाषा बोल रहे है। जिस तरह के शब्दों का इस्तेमाल कर रहे हैं. वह उचित नहीं है। अपराध के नाम पर राजनीति कर संवैधानिक पद की गरिमा के विपरीत काम कर रहें है। 

रालोजपा प्रवक्ता ने तेजस्वी यादव को मशवरा देते हुए कहा कि जो दल विपक्ष में होता हैं, उसे रचनात्मक विपक्ष की भूमिका का निर्वहन करनी चाहिए। विधानसभा और राज्य में विपक्ष के कार्य करने का वही उद्देश्य होना चाहिए जो सरकार के हैं। संसदीय लोकतंत्र का अपरिहार्य घटक है विपक्ष, इस बात को तेजस्वी यादव को आत्मसात करनी चाहिए।

श्रवण अग्रवाल ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष बचकाना हरकत को छोड़ अपने अंदर परिपक्वता लाए और संवैधानिक दायित्व का निर्वाह करे। संवैधानिक पद पर रहने के बावजूद वे नियम का न सिर्फ खुलेआम उल्लंघन कर रहे हैं,  झूठे इल्जाम को लगाकर विधि-व्यवस्था में खलल डाल कर जांच को प्रभावित करने का प्रयास कर रहे हैं। तेजस्वी यादव के बिना किसी सबूत के छिछोरे तरीके से संसदीय पद पर बैठे व्यक्ति पर झूठे इल्जाम लगाने से नेता प्रतिपक्ष पद की गरिमा धूमिल हो रही हैं। अगर उनके पास किसी के बारे में ठोस जानकारी है तो वे न्यायलय, प्रशासन अथवा सदन को दे। जिसे की सरकार विधि सम्मत कार्रवाई कर सकें। तेजस्वी यादव सदन के अंदर और बाहर लालू यादव परिवार और राजद से संस्कार में मिली भाषा बोल रहे हैं। वह जिस तरह के शब्दों का इस्तेमाल  कर रहे हैं। रालोजपा उसकी घोर निंदा करती हैं।

रंजन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News