सेक्स वर्करों के द्वारा सजाया गया मां दुर्गा की पूजा का दरबार, दुर्गोत्सव में डूबा रेड लाइट एरिया

सेक्स वर्करों के द्वारा सजाया गया मां दुर्गा की पूजा का दरबार, दुर्गोत्सव में डूबा रेड लाइट एरिया

NEWS4NATION DESK : दुनिया के सबसे बड़े रेड लाइट एरिया में दुर्गोत्सब का त्यौहार अपने रंग में है। जी हां बता दे कि यूं तो कोलकाता के सोनागाछी को एशिया का सबसे बड़ा रेड लाइट एरिया कहा जाता है, लेकिन दुनिया के इस सबसे बड़े रेड लाइट एरिया सोनागाछी में दुर्गा पूजा का रंग अपने शिखर पर है।

गौरतलब है कि कलकत्ता में स्थित सोनागाछी के इलाके में सेक्स वर्कर रहते हैं। नवरात्रि के के महीने में सोनागाछी मां दुर्गा की आराधना के रंग में पूरी तरह रंग जाता है। सेक्स वर्करों का संगठन द्वारा महिला समन्वय समिति के द्वारा पिछले 7 वर्षों से दुर्गोत्सव मनाया जाता है। पूजा में 7000 सेक्स वर्कर शामिल होती हैं।

दुर्गा दुर्गोत्सव कमेटी पिछले 7 वर्षों से लगातार कोलकाता के सोनागाछी के मस्जिद बाड़ी स्ट्रीट में दुर्गोत्सव का आयोजन करती है। नवरात्रि में पूरे 9 दिनों तक सेक्स वर्कर्स जिंदगी की तमाम तकलीफों को भूलकर दुर्गा आयोजन दुर्गा पूजन में लीन रहती हैं।

मां दुर्गा की मूर्ति स्थापना से लेकर विसर्जन तक का काम सेक्स वर्करों के द्वारा संभाला जाता है। दुर्गा दुर्गोत्सव कमेटी के द्वारा इस बार दुर्गोत्सव के बहाने पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया जा रहा है।

दुर्गा दुर्गोत्सव कमिटी की संयोजक विशाखा लश्कर ने बताया कि इस बार हमारा थीम है ग्लोबल वार्मिंग कम करो और पृथ्वी को बचाओ इसी के तहत हम लोगों ने दुर्गा प्रतिमा के 10 भुजाओं में अस्त्र-शस्त्र सजाने के बजाय पर्यावरण संरक्षण से संबंधित संदेश देने के बोर्ड का इस्तेमाल किया है।

Find Us on Facebook

Trending News