निर्माण के दौरान जमींदोज हो गया मुख्ममंत्री ग्रामीण निर्माण योजना का पुल, एक दर्जन मजदूर नीचे दबे

निर्माण के दौरान जमींदोज हो गया मुख्ममंत्री ग्रामीण निर्माण योजना का पुल, एक दर्जन मजदूर नीचे दबे

KATIHAR : बिहार में नए बन रहे पुलों के गिरने का सिलसिला जारी है। इस बार मामला बिहार के डिप्टी सीएम तार किशोर प्रसाद के गृह जिले कटिहार से जुड़ा है। जहां बीते शनिवार को एक निर्माणाधीन पुल का एक हिस्सा ढलाई के दौरान गिर गया। इस हादसे में वहां काम कर रहे लगभग एक दर्जन मजदूर बुरी तरह से घायल हो गए। इस घटना के बाद वहां हड़कंप मच गया। वहीं घटना के बाद डीएम ने जांच के आदेश दिए हैं। 

बताया गया कि जिले के समेली प्रखंड के बकिया नया टोला डुम्मर के बीच मुख्यमंत्री संपर्क योजना के तहत पुल का निर्माण किया जा रहा है। जहां ढलाई का काम किया जा रहा था। लेकिन अचानक सटरिंग का एक हिस्सा भरभराकर नीचे गिर गया। जिसमें लगभग एक दर्जन के करीब मजदूर दब गए। ग्रामीणों ने बताया कि पुल निर्माण में शुरू से ही अनिमत्ता  बढ़ती जा रही थी, पुराने लोहे के पाइप पुल के नीचे लगाया गया था शायद इसी कारण ढलाई के लोड परते ही पुल निर्माण के दौरान सटरिंग टूट गया। आनन फानन में सभी घायलों को पास के पूर्णिया जिले के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है

राजद के पूर्व विधायक ने की जांच की मांग

पुल टूटने की घटना पर राजनीति भी शुरू हो गई है। बरारी से राजद के पूर्व विधायक नीरज यादव ने बताया कि उन्होंने अपने कार्यकाल में इस पुल के निर्माण की मंजूरी दिलाई थी। लेकिन मौजूद सरकार में किस तरह का निर्माण किया जा रहा है यह देखा जा सकता है। पुल निर्माण में भारी घोटाला किया जा रहा है। जिसकी जांच निगरानी से कराई जाए। इन निर्माण में जो भी दोषी हो, उन पर कार्रवाई की जाए, फिर चाहे वह निर्माण कंपनी हो, अधिकारी हो या कोई ब्यूरोक्रेट्स, सभी के खिलाफ जांच होनी चाहिए। 

मौके पर बरारी थानाध्यक्ष और बीडीओ पहुंचे. जिला पदाधिकारी उदयन मिश्रा ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिये हैं। उन्होंने कहा कि यह गंभीर मामला है। इसमें जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


Find Us on Facebook

Trending News