फुलवारी के युवक ट्रक की चपेट में आने से मौत, दस दिन पहले ही बेटी का हुआ था जन्म

फुलवारी के युवक ट्रक की चपेट में आने से मौत, दस दिन पहले ही बेटी का हुआ था जन्म

दानापुर। दानापुर अनुमंडल के खगौल व दनापुर थाना क्षेत्र के बीच लखनीबीघा रोड मे बेलगाम रफ्तार ट्रक ने मोटरसाइकिल सवार युवक को कूचला दिया । घटना रविवार को देर शाम उस वक्त हुई जब युवक बाइक से किसी काम से लखनी बिगहा रोड से गुजर रहा था। बुरी तरह कुचला जाने से युवक की  मौके पर मौत हो गयी। घटना के बाद चालक ट्रक लेकर फरार होने में सफल हो गया । इधर मृतक युवक की पहचान इंद्रजीत कुमार पिता अर्जुन सिंह साकिन गोविंदपुर फुलवारी शरीफ के रहने वाले के रूप में होने पर परिजनों में कोहराम मच गया।

बताया गया कि इंद्रजीत फोटोग्राफर का काम करता था जिसके घर दस दिन पहले ही बेटी का जन्म हुआ है। गोविन्दपुर के लोगो को उसकी मौत हादसे में होने की जानकारी मिली तो बड़ी संख्या आक्रोशित लोग घटनास्थल पर पहुंचे और खगौल दानापुर मार्ग को जाम कर आगजनी करते हुए हो  हंगामा करने लगे।आक्रोशित लोगों ने हादसे के लिये जिम्मेवार ट्रक चालक की गिरफ्तारी व मुआवजे की मांग करते हुए प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी करने लगे। लोगों के आक्रोश को देख मौके पर दनापुर खगौल शाहपुर फुलवारी व आसपास के थाने की भारी संख्या में पुलिस फोर्स पहुंची और आक्रोशित लोगों को समझाने बुझाने में लगी हुई रही।सड़क जाम कर हो हंगामा करने वालो ने बांस बल्लो लाठी डंडे लेकर कई वाहनों को निशाना बनाय । इतना ही नही पथराव कर पुलिस प्रशासन को भी पीछे हटने को मजबूर कर दिया। इसके बाद भारी संख्या में अतिरिक्त पुलिस बल को मंगवाया गया। हादसे के करीब पांच बाद किसी तरह लोगो को समझा बुझाकर सड़क जाम हटाया जा सका और शव को पोस्टमार्टम में भेजा गया।  

उधर फुलवारी के गोविंदपुर निवासी युवक इंद्रजीत कुमार की मौत खगौल के  लखनीबीघा रोड मे ट्रक दुर्घटना में हो गयी।  मृतक युवक की पहचान इंद्रजीत कुमार पिता अर्जुन सिंह साकिन गोविंदपुर के के रूप में होते ही गोविन्दपुर में परीजनो में कोहराम मच गया।। पति की मौत की खबर मिलते ही पत्नी पूनम देवी पछाड़ खाकर बेहोश हो गई । परीजनो ने बताया कि दस दिन पहले ही उसके घर बेटी का जन्म हुआ था और बेटी के घर मे आने से परिवार में खुशियों का माहौल था। बेटी के जन्म लेने के दस दिन बाद ही पिता की हादसे में मौत से परिवार में चीत्कार मचा रहा । वहीं नवजात के सर से पिता का साया उठ चुका था जो घर मे मां और अन्य लोगो के क्रंदन से नासमझ थी लेकिन बच्ची भी लगातार रोये जा रही थी । परिवार वालों ने बताया कि इंद्रजीत फोटोग्राफी का काम कर परिवार चला रहा था । उसकी मौत के बाद अब परिवार वालों को कौन देखेगा। उसकी शादी वर्ष 2016 में हुआ था । बेटी से पहले उसे एक बेटा भी है जो अपनी माँ के साथ ही बिलख रहा था । 

Find Us on Facebook

Trending News