एक विवाह ऐसा भीः सोशल मीडिया के जरिए मोहब्बत, दिन भर पुलिस हिरासत में रहा युवक, शाम में हो गई शादी, जानिए क्या है मामला...

एक विवाह ऐसा भीः सोशल मीडिया के जरिए मोहब्बत, दिन भर पुलिस हिरासत में रहा युवक, शाम में हो गई शादी, जानिए क्या है मामला...

NAWADA: नवादा जिले के महिला थाना में सिकंदरा की एक लड़की ने थाना में आवेदन देकर एक युवक के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। लड़की ने बताया कि सोशल मीडिया पर उन दोनों का प्यार परवान चढ़ा था। बाद में दोनों मिले और खूब कसमें –वादे किए। हालांकि अब लड़के ने उसे छोड़ दिया है। अब वह महिला थाने में न्याय की गुहार लगा रही है।

मामले में ज्यादा जानकारी देते हुए लड़ती ने बताया कि 29 जून को उसने महिला थाना में आवेदन दिया। बताया जाता है कि जमुई जिला के सिकंदरा गांव के रहने वाली स्वर्गीय सुरेश यादव की पुत्री आरती कुमारी द्वारा महिला थाना में आवेदन दिया गया था। उसने बताया कि फेसबुक के जरिए उसकी पहचान वारसलीगंज क्षेत्र के मसूदा गांव के सीताराम महतो का पुत्र अवधेश कुमार से होती है। पहले दोनों में खूब बातें हुई और फिर यह दोस्ती प्यार में बदल गई। जान पहचान बढ़ने के बाद मुलाकात के सिलसिला बढ़ जाता है। देखते ही देखते अवधेश कुमार द्वारा चोरी चुपके आरती कुमारी की मांग में सिंदूर भर कर आधी-अधूरी शादी कर लेता है। यह सब होने के कुछ दिन बाद वह लड़की को छोड़ देता है और फोन से बातचीत भी करना बंद कर देता है। जिसके बाद लड़की ने महिला थाना में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाती है। आवेदन प्राप्त होने के बाद महिला थाना प्रभारी ने नोटिस के माध्यम से लड़का पक्ष को बुलाती है। महिला थाना में सोमवार को युवक के परिवार थाना नोटिस के आधार पर सभी परिवार पहुंचते हैं। जिसके बाद युवक को दिन भर थाने में हिरासत में रखा गया। इसके बाद लड़के के परिजनों द्वारा यह फैसला लिया जाता है कि आरती को हम लोग बहू मानते हैं और शादी विवाह कर उसे साथ रखेंगे।


इसके बाद महिला थाने में दोनों को बॉन्ड भराकर शादी संपन्न कराई और लड़का के परिवार के साथ लड़की चली गई। लड़की ने कही कि हम यही चाहते हैं कि हम जिस से मोहब्बत किए हैं उसी के साथ रहेंगे। पूरे मामला सुनने के बाद महिला थाना ने दोनों की शादी विवाह संपन्न कराई। मिली जानकारी के अनुसार नोटिस के आधार पर पहुंचे लड़का पक्ष ने दिन भर शादी करने से इनकार किया। जिसके बाद महिला थाना ने लड़की के शिकायत पर लड़के को दिनभर हिरासत में रखा। हालांकि देर शाम लड़का पक्ष ने फैसला लिया गया कि हम लड़की को बहू मानते हैं और उसे अपने साथ रखेंगे। जिसके बाद महिला थाना ने दोनों मर्जी से लड़की को ससुराल जाने दिया।

Find Us on Facebook

Trending News