मार्च के पहले हफ्ते में बज सकता है चुनावी बिगुल, चुनाव आयोग ने 28 फरवरी के बाद तबादलों पर लगाई रोक

मार्च के पहले हफ्ते में बज सकता है चुनावी बिगुल, चुनाव आयोग ने 28 फरवरी के बाद तबादलों पर लगाई रोक

DELHI/PATNA : आगामी लोकसभा चुनावकी तारीखों का ऐलान मार्च के पहले हफ्ते में सकता है। चुनाव आयोग से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी दी। इसके साथ ही इन सूत्रों ने बताया कि लोकसभा चुनाव के साथ कुछ राज्यों के विधानसभा चुनाव भी कराए जा सकते हैं। इसको लेकर चुनाव आयोग ने कमर कस ली है।

28 फरवरी के बाद तबादले पर लगेगी रोक

बताया जा रहा है कि चुनाव आयोग ने राज्‍यों के मुख्‍य सचिवों और पुलिस प्रमुखों को पत्र लिखकर कहा है कि 28 फरवरी तक सभी ट्रांसफर कर लें। उसके बाद किसी भी स्‍तर पर ट्रांसफर नहीं होंगे। इसके साथ ही चुनाव आयोग ने संबंधित रिपोर्ट भी मांगी है। यानी कि केंद्र सरकार के पास सक्रिय रूप से काम करने के लिए केवल एक महीने बचा है।

3 जून को खत्म हो रहा है मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल

बता दें कि मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल 3 जून, 2019 को खत्म हो रहा है। ऐसे में चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव के कार्यक्रम और चरणों को तय करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने 2004 में चार चरण में लोकसभा चुनाव कराने की घोषणा की थी। यह घोषणा 29 फरवरी को की गई थी। 2009 में चुनाव आयोग ने 2 मार्च को पांच चरण में लोकसभा चुनाव कराने की घोषणा की थी। इसके अलावा 2014 में लोकसभा चुनाव की घोषणा 5 मार्च को की गई थी। इस चुनाव को 9 चरण में कराने की घोषणा की गई थी।

गौरतलब है कि पिछले तीनों लोकसभा चुनाव अप्रैल से मई के दूसरे सप्ताह में पूरे करा लिए गए थे। सूत्रों ने बताया कि आम चुनाव का समय और चरण तय करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव के साथ ही आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव भी करा सकता है। सिक्किम विधानसभा का कार्यकाल मई, 2019 और आंध्र प्रदेश, ओडिशा और अरुणाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल जून, 2019 में पूरा हो रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News