RJD में इलेक्शन सिर्फ खानापूर्ति : राष्ट्रीय अध्यक्ष का नाम पहले से तय, अब प्रदेश अध्यक्ष लिए भी लालू प्रसाद ने तय कर दिया नाम, घोषणा शेष

RJD में इलेक्शन सिर्फ खानापूर्ति : राष्ट्रीय अध्यक्ष का नाम पहले से तय, अब प्रदेश अध्यक्ष लिए भी लालू प्रसाद ने तय कर दिया नाम, घोषणा शेष

PATNA : RJD  में पार्टी के नए पदाधिकारियों के लिए चुनाव कराए जा रहे हैं। इसके बाद पार्टी के नए प्रदेश अध्यक्ष और राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव होना है। जिसके लिए नई दिल्ली में भव्य कार्यक्रम कराने की तैयारी है। इन सबके बीच लगभग यह तय हो गया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी अब भी लालू प्रसाद के पास ही रहेगी। वहीं अब जो  खबरें सामने आई हैं उसके अनुसार पार्टी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष का नाम भी बिना चुनाव के ही फाइनल हो गया है और सारी औपचारिकताएं भी पूरी कर ली गई है और सिर्फ नाम की घोषणा किया जाना शेष है।

जगदानंद ही रहेंगे प्रदेश अध्यक्ष

राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह को ही फिर से प्रदेश की कमान सौंपी जाएगी। जगदानंद अभी भी इस पद के लिए पार्टी सुप्रीमो लालू प्रसाद की पहली पसंद हैं। लिहाजा, उनका प्रदेश अध्यक्ष बने रहने का रास्ता साफ हो गया है। वे सोमवार को प्रदेश अध्यक्ष फिर से बनने के लिये नामांकन करेंगे। रविवार को दिन में ही लालू यादव ने उन्हें प्रदेश अध्यक्ष की कमान संभालने का निर्देश दिया। इसके बाद वे इस पद के लिए तैयार हो गए। 

लालू के कहने पर माने जगदानंद

उधर, लालू प्रसाद यादव के निर्देश के बाद उनको प्रदेश अध्यक्ष औपचारिक रुप से बनाने के लिये कागजी कार्रवाई चलती रही। इसके पहले जगदानंद प्रदेश अध्यक्ष का पद छोड़ने का मन बना चुके थे। उन्होंने अपनी इस इच्छा से लालू प्रसाद के अलावा उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को भी अवगत कराया था। पर, इसके लिए लालू प्रसाद तैयार नहीं हुए। लालू प्रसाद ने उनसे स्पष्ट कह दिया कि उनका पार्टी हित में अध्यक्ष बने रहना आवश्यक है। क्योंकि सत्ता में आने के बाद पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं को अनुशासित रहना और जरुरी हो गया है। 

80 वर्षीय जगदानंद सिंह ने कहा कि मेरा मन नहीं, शरीर थक गया है। पहले 12-12 घंटे तक काम करते थे, लेकिन अब 6 घंटे ही कर पा रहे हैं। हर आदमी के रिटायर होने की एक उम्र होती है। वैसे यह राष्ट्रीय अध्यक्ष का काम है कि वह कार्यभार किसे देंगे। हमने कभी इसकी इच्छा प्रकट नहीं की। यही नहीं वे किसी काम या जिम्मेवारी से भागते भी नहीं हैं। अपने राजनीतिक जीवन में उन्होंने लोहिया और कर्पूरी ठाकुर से यही सीखा है कि जनता के लिये दी हुई जिम्मेदारियों को ईमानदारी से निभाओ।

जो उम्मीदवार थे, वह प्रस्तावक बने

 राजद के सांगठनिक (2022-2025) चुनाव कार्यक्रम चल रहा है। 21 सितंबर को नये प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव होना है। इसके लिये सोमवार को नामांकन होना है। हालांकि रविवार को चार सेट में नामांकन फार्म भरा गया पर सोमवार को कौन नामांकन करेगा, वो कॉलम खाली रखा गया। वहीं अध्यक्ष पद के संभावित उम्मीदवारों को प्रस्तावक बना दिया गया है। ऐसे में जगदानंद का ही अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा है।

हालांकि जगदानंद की अनिच्छा की खबर के बाद प्रदेश अध्यक्ष के लिए कई दावेदार रेस में थे। इनमें अब्दुल बारी सिद्दिकी, उदय नारायण चौधरी, श्याम रजक, भूदेव चौधरी के नाम की चर्चा थी।


Find Us on Facebook

Trending News