अभी तक कर रहे चर्चा तो कब भरेंगे पर्चा, पहलवान नदारद, चुनावी अखाड़ा तैयार,सिर्फ 11 दिन में कैसे बनेगी हवा

अभी तक कर रहे चर्चा तो कब भरेंगे पर्चा, पहलवान नदारद, चुनावी अखाड़ा तैयार,सिर्फ 11 दिन में कैसे बनेगी हवा

न्यूज4नेशन डेस्क- लोकसभा चुनाव के लिए चुनाव आयोग ने अखाड़ा तैयार कर दिया लेकिन अखाड़े में दांव आजमाने वाले पहलवान अभी तक दंगल से नदारद हैं. 

चाहे एनडीए हो या फिर महागठबंधन दोनों पार्टियों के बीच उम्मीदवारों को लेकर पेंच फंसा हुआ है. चुनावी अखाड़ें में कौन कहां से दांव आजमाएगा इस बात को लेकर अभी तक ऐलान नहीं हो पाया है. दावेदारी को लेकर हो रही देरी से उम्मीदवारों के बीच संशय का माहौल है.

4 लोकसभा सीटें, प्रचार के लिए सिर्फ 12 दि

लोकसभा चुनाव के पहले फेज में बिहार की चार लोकसभा सीटों पर चुनाव होने हैं मगर खास बात यह है कि इन सीटों पर उम्मीदवारों को प्रचार के लिए सिर्फ 12 दिन का ही समय मिलेगा. 11 अप्रैल को पहले चरण में बिहार की 4 लोकसभा सीटों औरंगाबाद, गया, नवादा और जमुई में मतदान होना है. इसके लिए 18 मार्च से नामांकन प्रक्रिया शुरू होगी और 25 मार्च तक पर्चे भरे जा सकेंगे. नामांकन पत्रों की जांच के बाद 28 मार्च को उम्मीदवारों को चुनाव चिह्न मिलेंगे. इसके बाद 29 मार्च से 9 अप्रैल के बीच ही उम्मीदवार चुनाव प्रचार कर सकेंगे. वोटिंग से 48 घंटे पहले यानी 9 अप्रैल शाम पांच बजे प्रचार बंद हो जाएगा.

हाई हाईप्रोफाइल उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर
गौरतलब है कि पहले चरण में बिहार के कई हाईप्रोफाइल उम्मीदवारों की किस्मत दांव पर होगी। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिन्दुस्तानी आवाम मोर्चा के सुप्रीमो जीतनराम मांझी गया सीट से चुनाव लड़ने जा रहे हैं। जमुई सीट से एलजेपी सुप्रीमो के बेटे और वर्तमान सांसद चिराग पासवान की प्रतिष्ठा भी दांव पर होगी। जमुई से ही पूर्व विधानसभाध्यक्ष उदय नारायण चौधरी की चर्चा आरजेडी उम्मीदवार के रुप में चुनाव लड़ने की है.औरंगाबाद में बीजेपी के वर्तमान सांसद सुशील सिंह का मुकाबला कांग्रेस उम्मीदवार निखिल कुमार से होने की उम्मीद है। नवादा से एलजेपी उम्मीदवार वीणा देवी के चुनाव लड़ने की चर्चा है.बता दें कि बिहार की 9 सीटों पर पहले और दूसरे फेज में 11 और 18 अप्रैल को वोट पड़ेंगे जबकि परिणाम 23 मई को आएंगे.

Find Us on Facebook

Trending News