बिहार के शहरी उपभोक्ताओं को बड़ा शॉक देने की तैयारी में जुटी बिजली कंपनियां, बढ़ने वाली है बिजली की दरें

बिहार के शहरी उपभोक्ताओं को बड़ा शॉक देने की तैयारी में जुटी बिजली कंपनियां, बढ़ने वाली है बिजली की दरें

PATNA : खाने के सामानों की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि ने लोगों की कमर पहले ही तोड़ दिया है। अब राज्य सरकार ने बिजली की दरों में बदलाव करने की तैयारी शुरू कर दी है। जिसके कारण आगामी वित्तीय वर्ष से उपभोक्ताओं को अधिक दर से बिजली बिल  का भुगतान करना पड सकता है।

दरअसल, नगर विकास विभाग ने उपभोक्ताओं द्वारा खपत की जाने वाली बिजली पर 2.5 फीसदी सेस वसूलने का प्रस्ताव दिया है। इसपर बिजली कंपनी ने मंथन शुरू कर दिया है। देश के किस-किस राज्य के नगर निकाय क्षेत्र में बिजली सेस की वसूली हो रही है, इसकी जानकारी जुटाई जा रही है।


2023-24 से होगा लागू

बिजली कंपनी के मुख्यालय के अधिकारियों के मुताबिक वित्तीय वर्ष 2023-24 में दर निर्धारण के लिए बिहार विद्युत विनियामक आयोग को दिए जाने वाले प्रस्ताव में नगर विकास के प्रस्ताव को शामिल किया जाएगा। हालांकि बिजली बिल पर सेसलाइसका प्रभाव सिर्फ शहरी क्षेत्र में रहने वाले उपभोक्ताओं पर ही पड़ेगा। ग्रामीण उपभोक्ताओं को इससे दूर रखा गया है।

नवंबर में प्रस्ताव देगी बिजली कंपनी
 वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए बिजली दर निर्धारित करने का प्रस्ताव 15 नवंबर को बिजली कंपनी देगी। इस प्रस्ताव पर आयोग जनसुनवाई कर अपना फैसला सुनाएगा। वर्तमान वित्तीय वर्ष 2022-23 में बिजली कंपनी का लॉस करीब 30 फीसदी है। इस लॉस की भरपाई करने का अनुरोध आयोग से करने की तैयारी चल रही है। वर्तमान वित्तीय वर्ष में आयोग ने 15 फीसदी लॉस को मानकर फैसला सुनाया था। इस कारण दर में कोई बढ़ोतरी नहीं हुई थी। यह फैसला 1 अप्रैल 2022 से 31 मार्च 2023 तक लागू है।

लॉस मानकर दर निर्धारित करने मांग
 बिजली कंपनी 19.50 फीसदी लॉस मानकर दर निर्धारित करने की मांग कर रहा है। इसके लिए बिहार विद्युत विनियामक आयोग में साउथ बिहार और नॉर्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी ने रिव्यू पीटिशन डाला है। आयोग में डिस्ट्रीब्यूशन कंपनियों के रिव्यू पीटिशन पर 23 को सुनवाई होनी है।

वर्तमान बिजली दर : शहरी घरेलू उपभोक्ता
 
यूनिट दर अनुदान
 0-100 6.10 1.83
 101-200 6.95 1.83
 200 से ऊपर 8.05 1.83


Find Us on Facebook

Trending News