70 हजार रुपये घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार हुआ भवन निर्माण विभाग का घूसखोर अभियंता, अंतिम बिल फाइनल करने के लिये मांगा था पैसा

70 हजार रुपये घूस लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार हुआ भवन निर्माण विभाग का घूसखोर अभियंता, अंतिम बिल फाइनल करने के लिये मांगा था पैसा

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने बुधवार को हजारीबाग जिले के भवन निर्माण विभाग के कनीय अभियंता रामदेव भाई पटेल को 70 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है। बताया जाता है कि भवन निर्माण विभाग के कनीय अभियंता रामदेव भाई पटेल ने एक ठेकेदार सफीउल्ला से बिल पास करने के नाम पर घूस की मांग की थी। ठेकेदार इसकी सूचना भ्रष्टाचार निरोधक ब्योरो को दी। इसके बाद ब्योरो ने कार्रवाई करते हुए ठेकेदार को 70 हजार रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार किया है।

मामले को लेकर सफीउल्ला ने एसीबी को शिकायत की थी कि वह भवन निर्माण विभाग में लाइफ एंड कंपनी, अली कंपलेक्स पगमिल रोड, हजारीबाग का पंजीकृत संवेदक है। उसकी कंपनी को प्रशासनिक बिल्डिंग का काम दिया गया था। उक्त कार्य का प्रशासनिक तकनीकी स्वीकृति की राशि 40 लाख 90 हजार 500 रुपये थी। इस काम को समय पर कंपनी ने पूरा किया। इसके बाद विभाग के कार्यपालक अभियंता, सहायक अभियंता और कनीय अभियंता की ओर से पर्यवेक्षण किया गया।

कनीय अभियंता रामदेव भाई पटेल ने अंतिम बिल फाइनल करने के लिए एक लाख रुपये रिश्वत की मांग की, जबकि ठेकेदार सफीउल्लाह घूस देने को तैयार नहीं था। इसकी शिकायत एसीबी से की गयी थी। मामले के सत्यापन के बाद एसीबी ने कनीय अभियंता को घूस लेते गिरफ्तार कर लिया है। एसीबी टीम उससे पूछताछ कर रही है।

Find Us on Facebook

Trending News