इंजीनियर राकेश रंजन का ऐलान: पालीगंज की जनता का मान-सम्मान ही हमारी पहचान,इस मिट्टी का कर्ज उतारना हमारा फर्ज है

इंजीनियर राकेश रंजन का ऐलान: पालीगंज की जनता का मान-सम्मान ही हमारी पहचान,इस मिट्टी का कर्ज उतारना हमारा फर्ज है

PATNA : बिहार की राजधानी पटना से तकरीबन 80 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पालीगंज विधानसभा क्षेत्र के जंग में इंजीनियर राकेश रंजन ने अपनी आवाज एक अलग अंदाज में बुलंद कर दी है। राकेश रंजन ने ऐलान कर दिया है की पालीगंज की जनता का मान-सम्मान ही हमारी पहचान है। इस मिट्टी में जन्म लेकर पला बढ़ा बेटा ही पालीगंज की मुस्तकबिल लिखेगा। आज तक पालीगंज की जनता ने जिन लोगों पर विश्वास किया उनलोगों जो किया है वह दिख रहा है। सही मायने में अगर पहले के  जनप्रतिनिधियों के द्वारा पालीगंज में विकास के काम किए गए होते आज क्षेत्र के लोग बदहाल स्थिति में जीने को विवश नहीं होते। उपरोक्त बातें पालीगंज विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर ताल ठोक रहे राकेश रंजन ने कहीं।


इंजीनियर राकेश रंजन कहते हैं की कि भला बताइए कि काम करने वाले जनप्रतिनिधि को पाला बदलने की जरूरत क्या है। आज क्षेत्र में सही तरीके से काम करने नहीं करने की वजह से इन लोगों ने अपनी पार्टी तक बदल ली है।भला सिद्धांतों से समझौता करने वाले लोग क्षेत्र का विकास क्या खाक करेंगे। जिनकी न तो नीति ठीक है न नियत ठीक है। इन लोगों ने सरकारी योजनाओं को लागू करवाने में भी भ्रष्टाचार का व्यापार किया। आज इनका आधार खत्म हो गया है। 

जिसका चरित्र और चेहरा हर चुनाव में बदल जाए उस जनप्रतिनिधि पर जनता आखिर क्यों विश्वास करेगी। मैं एक इंजीनियर होने के नाते सोशल इंजीनियरिंग में भी विश्वास करता हूं ।पालीगंज को बिहार की राजधानी से बिल्कुल निकट रहने के बावजूद इससे पहले के जनप्रतिनिधियों ने इसका लाभ नहीं दिलवाया। पहले से चुने हुए लोग जो चेहरा बदलकर चुनाव लड़ने आए हैं उन्हें यह बताना चाहिए कि आखिर पालीगंज जैसे जगह पर कोई उद्योग धंधा क्यों नहीं लग पाया ।बेरोजगारों की फौज क्यों खड़ी है। नौजवान की उर्जा बेकार क्यों जा रही है। पहले इसका जवाब दें ।उसके बाद इन्हें जनता वोट करेंगे मैं पालीगंज के लोगों को विश्वास दिलाता हूं की मैं इसी मिट्टी मे जन्म लिया हूं ।पला बढ़ा हूं हमारा फर्ज है कि हम पालीगंज का कर्ज भी उतारे।

Find Us on Facebook

Trending News