इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और बैट्समैन एलिस्टर कुक ने की संन्यास की घोषणा

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और बैट्समैन एलिस्टर कुक ने की संन्यास की घोषणा

N4N DESK: टेस्ट क्रिकेट में ख़राब फॉर्म से जूझ रहे इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और धाकड़ ओपनिंग बैट्समैन एलिस्टर कुक ने संन्यास की घोषणा कर दी है. टीम इंडिया के ख़िलाफ़ जारी स्पेकसेवर्स टेस्ट सीरीज में ओवल टेस्ट मैच 33 वर्षीय कुक का आखिरी टेस्ट मैच होगा. 160 टेस्ट मैच में 12 हजार से अधिक रन बना चुका इंग्लैंड का ये पूर्व कप्तान बीते कुछ सालों से क्रीज पर रनों के लिए जूझ रहा था. ख़राब फॉर्म की वजह से वे टीम के लिए कुछ खास योगदान नहीं कर पा रहे थे.

संन्यास की ख़बर से चौंका वर्ल्ड क्रिकेट

बीते एक साल में एलिस्टर कुक ने 9 टेस्ट मैचों में 18.62 की औसत से ही रन बनाये हैं। ऐसे में समझा जा सकता है कि 12 हजार से अधिक रन बनाने वाले इस खिलाड़ी के मन में क्या चल रहा होगा. ख़राब फॉर्म की वजह से उनका बल्लेबाजी औसत लगातार नीचे गिरता जा रहा था. हालांकि टीम इंडिया के ख़िलाफ़ खेले चौथे टेस्ट मैच में वे रंग में आते दिख रहे थे. वे साउथैम्पटन टेस्ट में बल्लेबाजी के दौरान बेहतरीन तकनीक का भी प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन पहली पारी में स्लिप में कैच आउट होने के बाद दूसरी पारी में भी लूज ड्राइव खेलने के चक्कर में अपना विकेट गंवा बैठे थे. फिलहाल कुक की रिटायरमेंट की ख़बर सुनकर क्रिकेट वर्ल्ड चौंक गया है.

कुक के बारे में बोले पूर्व दिग्गज क्रिकेटर

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और एलिस्टर कुक के सीनियर रहे माइकल वॉन ने भी कुक की संन्यास की ख़बरों पर आश्चर्य जताया है और उनके फैसले का सम्मान किया है. माइकल वॉन ने कहा है कि कुक जैसा बेहतरीन खिलाड़ी उन्होंने नहीं देखा है. वे मानसिक रूप से काफी दृढ़ प्लेयर हैं. 

वहीं, टीम इंडिया के स्टाइलिश और पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण ने एलिस्टर कुक को जमकर सराहा है. लक्ष्मण ने ट्वीट करते हुए कहा है कि इंग्लैंड के इस पूर्व कप्तान के बेहतरीन करियर के लिए मुबारकबाद देता हूं. उन्होंने अपने संदेश में कहा है कि जब कुक ने इंडिया के ख़िलाफ़ नागपुर में टेस्ट करियर की शुरुआत की थी, तभी उन्हें उनके टैलेंट का अहसास हो गया था कि वे किसतरह के बल्लेबाज हैं. उनके भरोसे पर कुक पूरी तरह से खरे उतरे हैं. 

वहीं, आईसीसी ने भी एलिस्टर कुक के रिटायरमेंट पर ट्वीट करते हुए कहा है कि उन्हें शुभकामनाएं दी हैं. इधर, इंग्लैंड के पूर्व कप्तान ने संन्यास की घोषणा करते हुए कहा है कि जैसा मैंने सोचा था, उससे कहीं अधिक मैंने क्रिकेट में पाया है.

सचिन का तोड़ सकते थे रिकॉर्ड

हालांकि एलिस्टर कुक के रिकॉर्ड पर गौर करें तो ऐसा प्रतीत होता था कि आने वाले वक्त में वे ही सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं क्योंकि उन्होंने 160 टेस्ट मैचों में 12 हजार से अधिक रन बना लिये थे. मास्टर-ब्लास्टर का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए उनके पास काफी वक्त था. वे अभी मात्र 33 साल के ही हैं लेकिन बीते कुछ साल से ख़राब फॉर्म से जूझने के बाद उन्होंने अचानक से संन्यास की घोषणा कर दी.फिलहाल संन्यास की घोषणा के बाद एलिस्टर कुक की जगह की भरपायी करना इंग्लैंड टीम के लिए मुश्किल हो जाएगा क्योंकि ऐसे प्लेयर बिरले ही पैदा होते हैं.

रिकॉर्डबुक में कुक

टेस्ट: 160 टेस्ट मैच में 44.88 की औसत से कुल 12254 रन, सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन – 294 रनों की पारी, गेंदबाजी में 6 रन देकर एक विकेट 

वन-डे:  92 मैच में 36.40 की औसत से कुल 3204 रन, सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन – 137 रन

टी-20 : 4 मैचों में 112.96 की औसत से कुल 61 रन, सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन – 26 रन

साभार- प्रसून, पत्रकार

Find Us on Facebook

Trending News