ENTERTAINMENT NEWS: इन वेब सीरीज का कुछ अलग है अंदाज, परिवार के साथ उठाएं इसका लुत्फ

ENTERTAINMENT NEWS: इन वेब सीरीज का कुछ अलग है अंदाज, परिवार के साथ उठाएं इसका लुत्फ

DESK: देश में कोविड प्रोटोकॉल्स की वजह से कई राज्यों में घर से बाहर निकलने पर पाबंदी लगी हुई है. इस वजह से लोग घर में बैठे-बैठे बोर हो रहे हैं और उन्हें कुछ सूझ ही नहीं रहा है. लोगों को इस बोरियत से निकालने के लिए आई है कई वेब सीरीज, जिन्हें लोग काफी पसंद कर रहे हैं और एक दूसरे को देखने का सुझाव भी दे रहे हैं. करोना काल में जहां फिल्मों की शूटिंग पर संकट आया हुआ है, वहीं वेब सीरीज में लोगों के बीच धूम मचा रखी है.

हालांकि देश में फिल्मों के लिए तो सेंसर बोर्ड है मगर वेब सीरीज के लिए हाल ही में इस तरह की टीम गठित की है. जिस वजह से कई ऐसी वेब सीरीज बनाई जा चुकी हैं जिन्हें लोग अपने परिवार के साथ नहीं देख सकते हैं. इनमें काफी ज्यादा एडल्ट सीन, अभद्रता, गाली-गलौज, नशे से जुड़े सीन शामिल होते हैं. कुछ चुनिंदा वेब सीरीज ऐसी है जिन्हें आप अपने परिवार के साथ देख सकते हैं और पूरा परिवार इसका आराम से मजा उठा सकता है. इसे फैमिली ड्रामा भी कहा जा सकता है. आइए जानते हैं वह कौन सी वेब सीरीज है और उनसे जुड़ी कुछ अहम जानकारियां.

एस्पिरेंट्स: एस्पिरेंट्स इन दिनों काफी चर्चा में बनी हुई है.सीरीज को आप टीवीएफ या फिर यूट्यूब पर देख सकते हैं. इस सीरीज में यूपीएससी की तैयारी कर रहे कुछ दोस्तों की कहानी है, जिनकी जिंदगी में अलग अलग मोड़ और दुविधाएं आती हैं.

चाचा विधायक हैं हमारे: जाकिर खान स्टारर इस वेब सीरीज के दो सीजन आ चुके हैं, जिनको आप अमेजन प्राइम वीडियो पर देख सकते हैं. सीरीज इंदौर के रहने वाले रौनी भैया की कहानी है, जो दिल का एक नेक शख्स है लेकिन दूसरों की मदद के चक्कर में मुसीबत में फंस जाता है. सीरीज को आप देखते हुए खूब हंसेंगे।

पंचायत: जितेंद्र कुमार, नीना गुप्ता और रघुवीर यादव स्टारर एक कॉमेडी सीरीज है, जिसे आप टीवीएफ पर देख सकते हैं. सीरीज की कहानी शहरी लड़के अभिषेक त्रिपाठी के आस पास घूमती है, जिसकी एक ग्राम पंचायत में सचिव के तौर पर नौकरी लगती है. ऐसे में क्या कुछ उसकी जिंदगी में अच्छा बुरा होता है, इसको ही मजाकिया अंदाज में दिखाया गया है.

गुल्लक: गुल्लक के दो सीजन हैं, जिसे आप टीवीएफ और सोनी लिव पर देख सकते हैं. इस सीरीज में भी एक परिवार की कहानी है, जिसके साथ मिडिल क्लास की सभी समस्याएं होती हैं. बच्चों की तिकड़म से बड़ों की लड़ाई तक, गुल्लक में आपको अपने परिवार की कहानी तो नहीं लेकिन किस्से जरूर मिल जाएंगे.

कोटा फैक्ट्री: 'बच्चे दो साल में कोटा से निकल जाते हैं, कोटा सालों तक बच्चों से नहीं निकलता।' ये टीवीएफ की वेबसीरीज 'कोटा फैक्ट्री' का डायलॉग है। इस ब्लैक एंड व्हाइट सीरीज में कोटा में पढ़ रहे बच्चों की जिंदगी को दिखाया है।

ये है मेरी फैमिली: इस वेब सीरीज को देखकर आप उस वक्त में खो जाएंगे, सब स्कूल से गर्मियों की छुट्टी होती थी और बच्चों की खुराफतें शुरू होती हैं. कभी भाई-बहन से लड़ाई होती थी तो कभी मां से डांट और पापा से पुचकार मिलती थी. कोई भी मिडिल क्लास फैमिली इस कहानी में अपनी कहानी ढूंढ़ सकती है. इस सीरीज को आप टीवीएफ पर देख सकते हैं.


Find Us on Facebook

Trending News