सोशल मीडिया वाले लेटर पर वार पलटवार, भाजपा ने कहा - खुद को कानून से ऊपर न समझें नेता प्रतिपक्ष

सोशल मीडिया वाले लेटर पर वार पलटवार, भाजपा ने कहा - खुद को कानून से ऊपर न समझें नेता प्रतिपक्ष

पटना। आर्थिक अपराध ईकाई द्वारा सोशल मीडिया पर विवादित टिप्पणी को लेकर कार्रवाई करने संबंधी लेटर जारी होने के बाद बिहार के राजनीति में फिर से वार-पलटवार का दौरा शुरू हो गया है। इस लेटर ने पिछले कुछ दिनों से ठंडी चल रही बिहार की राजनीति में नई गर्माहट भर दी है। जिसमें जहां विपक्ष के नेताओं द्वारा लगातार हमला किया जा रहा हैं, वहीं अब सता पक्ष की तरफ से भी जवाब दिया जा रहा है। 

पत्र जारी करने के बाद महागठबंधन में पुरजोर इसका विरोध किया जा रहा है। राजद नेता तेजस्वी यादव के बाद अब कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा है कि तत्काल सरकार को यह पत्र वापस लेना होगा क्योंकि सबसे ज्यादा अगर कोई सोशल मीडिया पर भड़काऊ खबरें फैल आती है तो वह है एनडीए की सरकार में उन्होंने कई नेताओं के नाम ही लिए हैं उन्होंने ने कहा है कि सबसे पहले नीरज कुमार सुशील कुमार मोदी और गिरिराज सिंह पर कार्रवाई करनी चाहिए जो आए दिन कमेंट करते हैं चाहे वह कांग्रेस की हो या आरजेडी की सबसे पहले सरकार उन पर कार्रवाई करें अगर ऐसा नहीं करती है तो यह पत्र वापस लेना होगा यह सरकार डरी हुई है और अपनी नाकामी को छुपाना चाहती है।

शुक्रवार को यह ईओयू द्वारा जारी लेटर को लेकर सरकार का बचाव करते हुए भाजपा प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा कि सोशल मीडिया पर जो भी अभद्र टिप्पणी करेंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर किसी के खिलाफ अनर्गल आरोप लगाना कहीं से भी उचित नहीं है, बगैर तथ्यों के इस तरह के आरोप लगाना सही नहीं है। अगर ऐसा कोई आदेश जारी किया गया है तो सभी को उसका पालन करना चाहिए

लोगों को भड़का रही है राजद

इस लेटर को लेकर राजद-कांग्रेस द्वारा विरोध को लेकर जताने को लेकर भाजपा प्रवक्ता ने कहा यह लोग सरकार के खिलाफ लोगों को भड़का रहे हैं। प्रतिबंधित जगहों पर दो तीन दिन से लोगों के साथ बैठक किया जा रहा है, हुजूम इकट्ठा किया जा रहा है। लोगों को तेजस्वी यादव भड़का रहे हैं। जो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। तेजस्वी यादव कानून से ऊपर नहीं है। अगर वह कानून तोड़ेंगे तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी

किसानों के लिए घड़ियाली बहा रहा विपक्ष

आगामी 30 जनवरी को राजद के मानव शृंखला को लेकर भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि किसानों के हित के नाम पर घड़ियाली आंसू बहा रहे हैं, इससे कोई लाभ नहीं होगा। राज्य की जनता ने उन्हें नकार दिया है। किसानों के हित के लिए जितना हमारी सरकार ने किया है, राजद उसके बराबरी कभी नहीं कर सकती है। उनकी मानव शृंखला पूरी तरह से नाकामयाब साबित होनेवाली है।

बता दें कि राज्य सरकार की आर्थिक अपराध शाखा की तरफ से गुरुवार को एक लेटर जारी किया गया था, जिसमें सोशल मीडिया पर अभद्र टिप्पणी करने पर कार्रवाई करने की बात कही गई थी। वही इस लैटर को लेकर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सीएम नीतीश कुमार की तुलना हिटलर से करते हुए खुद को गिरफ्तार करने की चुनौती दी थी,  उन्होंने लिखा था कि 60 घोटालों के सृजनकर्ता नीतीश कुमार भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह, दुर्दांत अपराधियों के संरक्षकर्ता, अनैतिक और अवैध सरकार के कमजोर मुखिया है। बिहार पुलिस शराब बेचती है। अपराधियों को बचाती है निर्दोषों को फँसाती है।  CM को चुनौती देता हूँ- अब करो इस आदेश के तहत मुझे गिरफ़्तार। 



Find Us on Facebook

Trending News