पूर्व भाजपाई अवनीश कुमार सिंह का डिप्टी सीएम पर अटैक,कहा- सुशील मोदी सबसे स्वार्थी नेता..भाजपा का सर्वनाश चाहते हैं..

पूर्व भाजपाई अवनीश कुमार सिंह का डिप्टी सीएम पर अटैक,कहा- सुशील मोदी सबसे स्वार्थी नेता..भाजपा का सर्वनाश चाहते हैं..

PATNA: डिप्टी सीएम सुशील मोदी के नीतीश कुमार को कैप्टन बताने के बाद बीजेपी के अंदरखाने में भूचाल आ गया है।पटना से लेकर दिल्ली दरबार तक के नेता सुशील मोदी के ट्वीट के बाद हतप्रभ हैं। पार्टी के कई नेताओं ने तो खुलकर सुशील मोदी के विरोध में बयानबाजी भी शुरू कर दी है। यूं कहें कि सुशील मोदी पहली बार सीधे तौर पर अपनो के हीं निशाने पर आ गए हैं।सिर्फ पार्टी के नेता हीं नहीं बल्कि पार्टी के फाउंडर रहे नेताओं ने भी सीएम नीतीश के सामने सुशील मोदी के इस तरह से सरेंडर करने आहत हैं।बिहार में बीजेपी के फाउंडर रहे और उत्तरबिहार और चंपारण के इलाकों में पार्टी का झंडा बुलंद करने वाले पूर्व विधायक अवनीश कुमार सिंह ने डिप्टी सीएम सुशील मोदी पर सीधा अटैक किया है।

ढ़ाका और चिरैया से पांच बार विधायक रहे अवनीश कुमार सिंह ने कहा है कि सुशील मोदी सबसे स्वार्थी नेता हैं ...वे भाजपा का सर्वनाश चाहते हैं। बीजेपी के पूर्व विधायक रहे अवनीश कुमार सिंह ने कहा कि उनलोगों ने पार्टी को ऊंचाई तक पहुंचाने के लिए जी तोड़ मिहनत की थी। लालू राज में जब बीजेपी का झंडा ढोने के लिए कोई तैयार नहीं होता था तब उनके जैसे लोग जिला से लेकर पटना तक बीजेपी की आवाज को बुलंद किया था। लेकिन सुशील मोदी ने हमेशा अपने आप को पार्टी से ऊपर समझा।उनकी वजह से हीं पार्टी के समर्पित नेताओं को पार्टी से दूर होना पड़ा है। पूर्व विधायक अवनीश कुमार सिंह ने कहा कि सुशील मोदी ने हमेशा पार्टी की बजाए अपना हित साधने की कोशिश की है।मोदी की वजह से हीं मेरे जैसे लोग बीजेपी से अलग होने को विवश हुए थे।मोदी पर हमला करते हुए पूर्व विधायक ने कहा कि सुशील मोदी ने हमेशा बीजेपी के समर्पित नेताओं और कार्यकर्ताओं का पैर खींचने का काम किया है। बता दें कि अवनीश कुमार सिंह ने 2014 में बीजेपी विधायकी से इस्तीफा दे दिया था और जेडीयू के टिकट से पूर्वीचंपारण लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा था।

सी पी ठाकुर-मिथिलेश तिवारी भी मोदी के बयान को कर चुके हैं खारिज

बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता डॉ. सीपी ठाकुर ने क्लीयर कर दिया है कि अभी सीएम कैंडिटेट तय नहीं हुआ है।उन्होंने कहा कि सुशील मोदी का ट्वीट उनका निजी राय थी.एनडीए की बैठक में ही सीएम पद का उम्मीदवार फाइनल होगा. बिना किसी पुष्टि के सुशील मोदी को बयानबाजी नहीं करनी चाहिए. पार्टी की कोर कमिटि की बैठक में हीं निर्णय लिया जाएगा कि नीतीश कुमार ही एनडीए का चेहरा होंगे या बीजेपी अलग चुनाव लड़ेगी.

संजय पासवान के बयान से शुरू हुआ संग्राम

बता दें कि बीजेपी एमएलसी संजय पासवान ने कहा था कि नीतीश कुमार को अब बिहार की गद्दी बीजेपी को सौंप कर दिल्ली चले जाना चाहिए।साथ हीं बिहार की गद्दी सुशील मोदी को सौंप देनी चाहिए.उसके बाद मंगोलिया से पटना लौटे सुशील मोदी ने बुधवार को ट्वीट करके सीएम नीतीश कुमार को बिहार एनडीए का कैप्टन करार दिया था।उन्होंन कह दिया था कि 2020 के विस चुनाव में भी नीतीश कुमार एनडीए के चेहरा होंगे।

Find Us on Facebook

Trending News