राज्यपाल बनने के बाद पहली बार नालंदा पहुंचे फागू चौहान, पुरातात्विक स्थलों का लिया जायजा

राज्यपाल बनने के बाद पहली बार नालंदा पहुंचे फागू चौहान, पुरातात्विक स्थलों का लिया जायजा

NALANDA : बिहार के राज्यपाल फागू चौहान अपने एक दिवसीय दौरे पर आज नालंदा पहुंचे. जहां उन्होंने राजगीर समेत नालंदा के कई ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण किया. राज्यपाल हेलिकॉप्टर से रत्नागिरी पर्वत पर अवस्थित विश्व शांति स्तूप पहुंचे. जहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. इस मौके पर नालंदा के जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह और पुलिस अधीक्षक निलेश कुमार ने उनका स्वागत किया. 

इस मौके पर विश्व शांति स्तूप के मुख्य पुजारी टी ओको नोगी ने राज्यपाल को अंग वस्त्र भेंट किया. उन्होंने विश्व शांति स्तूप का परिक्रमा करने के बाद दूरबीन के माध्यम से गिद्ध कूट पर्वत का दर्शन किया. साथ ही राज्यपाल ने दूरबीन के माध्यम से घोड़ा कटोरा झील और राजगीर के प्राकृतिक सौंदर्य का भी अवलोकन किया. राज्यपाल मंदिर पहुंचें जहां उन्होंने ताइको बजा कर भगवान बुध्द कि पूजा अर्चना की. 

इस अवसर पर बुद्धा सोसाइटी की श्वेता महारथी भी मौजूद थी. राजगीर के बाद वे सड़क मार्ग से प्राचीन नालंदा विश्वविद्यालय के खंडहर पहुंचे. जहां उनका पुरातत्व विभाग के अधिकारियों ने बूके भेंट कर स्वागत किया. इस मौके पर उन्होंने नालंदा विश्वविद्यालय के पुरातात्विक अवशेषों का अवलोकन करते हुए नालंदा के गौरवशाली इतिहास के बारे में विस्तृत जानकारी ली. खंडहर का भ्रमण करते हुए राज्यपाल ने इस स्थान को दुनिया का एक महान शिक्षण केंद्र बताया. 

हालाँकि नालंदा खंडहर के बाद उन्हें ह्वेनसांग मेमोरियल हॉल जाना था. लेकिन समय के अभाव में ह्वेनसांग मेमोरियल हॉल न जा सके और खंडहर के बाद सीधे नालंदा म्यूजियम पहुंचे. जहां उन्होंने पुरातात्विक अवशेषों का अवलोकन किया. उसके बाद राज्यपाल भगवान महावीर की निर्वाण भूमि पावापुरी पहुंचें. वहाँ जैनश्वेतांबर तीर्थ के संयुक्त मंत्री जे सी सुचंती ने उनका स्वागत किया. इस मौके पर उन्होंने पावापुरी जल मंदिर जा कर भगवान् महावीर की पूजा अर्चना की. बताते चलें कि बिहार के राज्यपाल बनाने के उनका यह पहला नालंदा दौरा था. 

नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News