पटना में फर्जी प्रमाण पत्र बनाने के गोरखधंधे का हुआ खुलासा, दो के खिलाफ दर्ज हुआ एफआईआर

पटना में फर्जी प्रमाण पत्र बनाने के गोरखधंधे का हुआ खुलासा, दो के खिलाफ दर्ज हुआ एफआईआर

PATNA : बांकीपुर बस स्टैंड के सामने सड़क पर एवं पुराने समाहरणालय परिसर तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी पटना सदर के कार्यालय परिसर के बाहर दलालों द्वारा फर्जी तरीके से जन्म प्रमाण पत्र आवासीय एवं आय प्रमाण पत्र आदि बनाने की शिकायत जिला नियंत्रण कक्ष को मिली थी। प्रभारी दंडाधिकारी जिला नियंत्रण कक्ष सुधीर कुमार की निगरानी में प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी की टीम द्वारा वसुधा केंद्र, डिजिटल सेवा, कॉमन सर्विस सेंटर, पुराना समाहरणालय परिसर अभिलेखागार के सामने गुमटी में संचालित दुकान में औचक छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान गुमटी से कई कागजात बरामद हुए। जिसमें ड्राइविंग लाइसेंस /जन्म प्रमाण पत्र /चरित्र प्रमाण पत्र /जाति प्रमाण पत्र/ बिना मोहर लगा हुआ स्टांप/ जमीन रजिस्ट्री डीड/ आवासीय प्रमाण पत्र/ ओबीसी प्रमाण पत्र आदि है।

उल्लेखनीय है कि उपरोक्त कॉमन सर्विस सेंटर निर्गत लाइसेंस स्थल से अलग स्थान पर अवैध तरीके से पुराना समाहरणालय पटना परिसर के अभिलेखागार के सामने लिट्टी चोखा होटल के बगल में संचालित किया जा रहा है जहां फर्जी तरीके से विभिन्न प्रकार के प्रमाणपत्रों को दलाली कर बनाया जा रहा है। वसुधा केंद्र द्वारा सरकार के आदेशानुसार नि:शुल्क ऑनलाइन आवेदन करना है। लेकिन वसुधा केंद्र संचालक द्वारा आवेदकों से अवैध राशि वसूल कर प्रमाण पत्र बनवाया जाता है। सभी जब्त कागजात फर्जी प्रतीत होते हैं। 

इस मामले में दुकान के प्रोपराइटर ओम प्रकाश पे. जय प्रकाश शर्मा वार्ड नंबर 29 चिरैयाटांड़ जीपीओ पटना तथा अनिल कुमार पे. अशोक प्रसाद चौधरी पृथ्वीपुर लेन नंबर 2, चिरैयाटांड़ ,जीपीओ पटना थाना कंकड़बाग के विरुद्ध गांधी मैदान थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है। जिला अधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने फर्जी प्रमाण पत्र बनाने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध छापेमारी अभियान तेज करने तथा कठोर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है।

पटना से अनिल की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News