झांसा या हकीकत? 10 लाख नौकरी देने की घोषणा पर CM नीतीश ने 'तेजस्वी' का उड़ाया था 'मजाक', अब 20 लाख का किया ऐलान

झांसा या हकीकत? 10 लाख नौकरी देने की घोषणा पर CM नीतीश ने 'तेजस्वी' का उड़ाया था 'मजाक', अब 20 लाख का किया ऐलान

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के दौरान तेजस्वी यादव ने बिहार के नौजवानों को नौकरी देने का वादा किया था। तेजस्वी ने ऐलान किया था कि अगर उनकी सरकार बनती है तो हम 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी देंगे। उन्होंने ऐलान किया था कि पहली कैबिनेट में ही भर्ती को लेकर प्रस्ताव पारित करेंगे। तेजस्वी ने बजाप्ता सूची जारी की थी कि पुलिस, शिक्षा समेत अधिकांश सरकारी विभाग में लाखों पद खाली हैं। ऐसे में बिहार के लोग हमें जिताएं तो 10 लाख पक्की नौकरी देंगे। तब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने तेजस्वी पर हमला बोला था। साथ ही उनके ज्ञान का मजाक उड़ाया था। तब नीतीश कुमार ने कहा था कि 10 लाख लोगों को नौकरी देंगे तो पैसा आसमान से लाएगा? अब वही नीतीश कुमार तेजस्वी यादव के सुर में सुर मिलाते नजर आ रहे हैं। आज उन्होंने गांधी मैदान में ऐलान भी कर दिया कि तेजस्वी यादव का जो वादा था उसे पूरा करेंगे। उन्होंने कहा कि हम तो चाहते हैं कि ना सिर्फ 10 लाख बल्कि उसे बढ़ाकर 20 लाख तक करें। 10 लाख लोगों को सरकारी नौकरी और 10 लाख अन्य लोगों को रोजगार दें। हालांकि CM नीतीश की इस घोषणा का BJP ने मजाक उड़ाया है।

10 लाख नौकरी देगा तो पैसा कहां से आएगा- नीतीश

2020 चुनाव प्रचार के दौरान सीएम नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव के 10 लाख युवाओं को नौकरी देने पर सवाल उठाया था। नीतीश ने कहा था कि कुछ लोगों को कुछ ज्ञान नहीं है। दावा कर रहे हैं कि इनती नौकरियां देंगे। पैसा कहां से आएगा और ऐसा न हो कि अपना अलग ही काम धंधा चालू कर लें। कहने से कुछ होता है जी, करने का कुछ अनुभव हो, कुछ समझ हो।

BJP विधानपार्षद नवल किशोर यादव ने 20 लाख सरकारी नौकरी देने की घोषणा पर नीतीश कुमार को घेरा। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार की बातों पर किसी को भरोसा नहीं। ये ऐसे नेता हैं, जो पूरी दुनिया के साथ अपना सबकुछ शेयर कर सकते हैं। लेकिन बात जब पावर की होगी तो वह शेयर नहीं करेंगे। आज नीतीश कुमार कह रहे हैं, नई पीढ़ी के साथ काम करेंगे। लेकिन सच्चाई यह है कि उन्हें नई पीढ़ी से कोई मतलब नहीं है। यह बिहार के सरकारी विभागों को देखकर समझा जा सकता है, जहां आठ साल पहले रिटायर हो चुके लोगों से काम लिया जा रहा है। पूरा सेक्रेट्रियट ऐसे लोगों से भरा पड़ा है। वह युवाओं के साथ कुछ भी हिस्सा शेयर नहीं करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार की बातों पर विश्वास करने की जरूरत नहीं है। वे अब नौकरी देने का झांसा दे रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News