पुलिस ने फर्जी दिल्ली पुलिस गिरोह का किया पर्दाफाश, हथियार और कार बरामद

पुलिस ने फर्जी दिल्ली पुलिस गिरोह का किया पर्दाफाश, हथियार और कार बरामद

SAMASTIPUR : जिले के बंगरा थाना की पुलिस ने फर्जी दिल्ली पुलिस को गिरोह के साथ गिरफ्तार किया है.  पुलिस के अनुसार यह गिरोह फर्जी दिल्ली बनकर लोगों के साथ ठगी और लूटपाट की घटना को अंजाम देते थे. इस सम्बन्ध में सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी प्रीतीश कुमार ने बताया कि विधानसभा चुनाव के मद्देनजर 6 अक्टूबर की रात्रि एनएच-28 पर गहन चेंकिग की जा रही थी. इसी क्रम में बंगरा थानाध्यक्ष व उनकी टीम द्वारा शंका के आधार पर दो वाहन तथा कुल 6 व्यक्तियों को पुछताछ के लिए मॉ धर्मकाटा, मुर्गिया चक के पास रोका गया. एक हरियाणा नम्बर एक्सयूवी कार जिसमें 5 व्यक्ति थे तथा दुसरा दिल्ली नम्बर का मिनी ट्रक जिसपर एक ड्राईवर था. दोनों ही गाड़ियां एक दूसरे से थोडी दूरी पर थी. एक्सयूवी कार की तलाशी में पुलिस को एक दिल्ली पुलिस की वर्दी मिली, जो कार के सीट पर रखा हुआ था. मौके पर एक व्यक्ति वर्दी का पेंट पहना हुआ था. 

एक अन्य व्यक्ति की तलाशी में उसके पास से एक पिस्टल तथा 16 चक्र कारतूस बरामद हुआ. प्रारंभिक पुछताछ में उसने पुलिस को बताया कि यह उसका लाइसेंसी हथियार है. वर्दी के बारे में बताया कि आईटीबीपी से रिटायर्ड है, परन्तु बरामद वर्दी दिल्ली पुलिस की थी. हालाँकि दोनों गाड़ी वालों ने एक दूसरे को पहचानने से इंकार कर दिया. मामला संदेहास्पद लगने पर सभी को थाने ले जाकर विस्तृत पूछताछ की गई. डीआईयू प्रभारी समेत जिले के टीम के द्वारा देर रात्रि गहन पूछताछ की गई. कई घंटो की विस्तृत पुछताछ पश्चात स्पष्ट हुआ कि दोनों की गाड़ियां एक दूसरे से जुडी हुईं है तथा इनकी एक बडी टीम है, जो इस क्षेत्र में हाईवे पर शराब का प्रलोभन देकर बड़ी रकम का लूट/ठगी करती है. 

इस गैंग के साथ एक क्रेटा गाड़ी भी थी, जिसपर अन्य दो अपराधी भी थे. जो इनके पकडे जाने के पश्चात भाग गए हैं. सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ने इनकी अपराध शैली के बारे में बताया कि पुछताछ से इस गैंग के एक नये अपराध शैली का खुलासा हुआ है. जिसमें ये लोग अपने सैम्पल के रूप में शराब दिखाकर बताते है कि यह ट्रक शराब से भरा है तथा किसी लाईन होटल या अन्य स्थान पर शराब कारोबारी से ट्रक का रेट (05 से 10 लाख) तय करके कारोबारी को बेच देते हैं, जो पैसा एक टीम ले लेती है. जब वह ट्रक का खरीदार लेकर चला जाता है तो पीछे से यह टीम पुलिस का रूप लेकर पीछा करके उसे रोक लेती है. डर के मारे खरीदार ट्रक छोडकर भाग जाता है और ये लोग पुनः उस ट्रक को अपने कब्जे में लेकर निकल जाते हैं. 

इस प्रयोजन हेतु उनके द्वारा पुलिस की वर्दी, लाइसेंसी हथियार,  एक्सयूवी कार, पुलिस का सायरन, डंडा इत्यादि सभी का प्रयोग करते है. गिरफ्तार किए गए व्यक्तियों की पहचान फिरोजाबाद के अवधेश कुमार,  नई दिल्ली के ओमप्रकाश सोलंकी, सीतामढी के मो0 आलम, दिल्ली के राजकुमार, नई दिल्ली के हेमंत कुमार, कन्टेनर का चालक औरंगाबाद के विनोद कुमार के रूप में की गई है. इन लोगों के पास से एक दिल्ली पुलिस की वर्दी, एक पिस्टल, 16 कारतुस, दो डंडा, सायरन लगा हुआ एक एक्सयूवी कार रजि0 नं0  एचआर51एवाई7600, कार के लिए पुलिस लिखा हुआ बोर्ड, 7 मोबाइल, एक मिनी ट्रक, शराब की पेटी, नगद 20 हजार रुपए बरामद किए गए हैं. 

समस्तीपुर से संजीव तरुण की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News