बगहा : फर्जी वंशावली व भू स्वामित्व के मामले में व्यवसायी पर मामला दर्ज, जांच में जुटी पुलिस

बगहा : फर्जी वंशावली व भू स्वामित्व के मामले में व्यवसायी पर मामला दर्ज, जांच में जुटी पुलिस

BAGAHA : रामनगर थाना के पुरानी बाजार निवासी व व्यवसायी अशोक कुमार छापोलिया पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। प्राथमिकी जिला पदाधिकारी के आदेश पर अपर समाहर्ता के भेजे गए पत्र के आलोक में सीओ विनोद मिश्रा ने स्थानीय थाने में दर्ज कराई है। जिसमें गलत वंशावली व भू स्वामित्व प्रमाण पत्र गलत साक्ष्य के आधार पर निर्गत कराने का आरोप है। इस संबंध में सीओ के तरफ से जांच प्रतिवेदन भी दिया गया है। जिसमें पाया गया है कि पारिवारिक सूची में सीताराम छापोलिया के पिता का नाम स्व. चतुर्भुज अग्रवाल है। जो गलत है। 

जांच में यह भी पाया गया है कि सीताराम छापोलिया के पिता का नाम स्व. रंगलाल है। साथ हीं चतुर्भुज अग्रवाल की पत्नी शकुंतला देवी के नाम का आदमी इस परिवार में नहीं है। बता दें कि इस मामले में नगर के पुरानी बाजार निवासी रौशन कुमार झुनझुनवाला ने मुख्यमंत्री, राजस्व सचिव, भू अर्जन विभाग, निगरानी विभाग, जिला पदाधिकारी के साथ हीं अन्य अधिकारियों को आवेदन दिया था। जिसमें मौजा डुमरी गांव में बन रहे भारत नेपाल सीमा सड़क परियोजना में गलत वंशावली व भू स्वामित्व प्रमाण पत्र के आधार पर करीब 24 लाख 60 हजार रुपये के फर्जीवाड़े का आरोप लगाया था। जिसके बाद से हीं इस दिशा में जांच का कार्य तेज कर दिया गया था। 

सीओ विनोद मिश्रा ने बताया कि फर्जी वंशावली व भू स्वामित्व प्रमाण पत्र के मामले से जुड़े तत्कालीन अंचल कर्मियों पर भी प्रपत्र क की तैयारी शुरू कर दी गई है। इधर प्रभारी थानाध्यक्ष नीतेश कुमार ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। गौरतलब है कि विभिन्न अधिकारियों को भेजे पत्र में रौशन झुनझुनवाला ने दावा किया है कि मौजा डुमरी थाना नंबर 559 में खाता 23, 12, खेसरा 58, 77 व कुल रकबा 128 डिसमिल भूमि है। जिसकी जमांबदी संख्या 81 है।  जमाबंदीदार के रूप में शकुंतला देवी पति चतुर्भुज अग्रवाल अंकित है। इस भूमि को भारत नेपाल सीमा सड़क परियोजना में अधिग्रहित किया गया है। जबकि फर्जी वंशावली व भू स्वामित्व के सहारे अशोक छापेालिया ने स्व. शकुंतला को अपनी दादी व स्व. चतुर्भुज अग्रवाल को अपना दादा घोषित किया है। साथ हीं अपने को इस भूमि का वारिस बताकर भू अर्जन विभाग से करीब 24 लाख 60 हजार रुपये की निकासी कर ली गई है।

बगहा से माधवेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News