मनाली के तोजिंग नाले में रेस्क्यू के दौरान हुई बीआरओ जवान की मौत, अब साढ़े तीन माह बाद घर पहुंची अस्थियां

मनाली के तोजिंग नाले में रेस्क्यू के दौरान हुई बीआरओ जवान की मौत, अब साढ़े तीन माह बाद घर पहुंची अस्थियां

Lakhisarai : हिमाचल प्रदेश के मनाली में स्थित लाहुल के तोजिंग नाले में 27 जुलाई की शाम को बादल फटने से आई बाढ़ में जान गंवाने वाले सीमा सड़क संगठन के बीआरओ 23 वर्षीय राहुल कुमार  की अस्थियां बुधवार की शाम लखीसराय लाई गईं।आज पूरे सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई l राहुल की अंतिम विदाई में हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहें । राहुल कुमार अमर रहे एवं भारत माता की जय के नारों से पूरा वातावरण देश भक्ति के रंग में सराबोर हो गया था.

आपको बता दें कि  इकलौते बेटे को खोने वाले लखीसराय जिले के सूर्यगढ़ा थाना अंतर्गत रामपुर निवासी रामानुज पाण्डेय का इंतजार साढ़े तीन महीने बाद खत्म हुआ है। रेस्क्यू अभियान में एक क्षत विक्षत शव मिला था। लोगों को रेस्क्यू करते हुए जान गंवाने वाले बीआरओ (सीमा सड़क संगठन) के जेई राहुल पांडेय का ही निकला। डीएनए रिपोर्ट आने के बाद लाहुल स्पीति पुलिस ने राहुल की अस्थियां बीआरओ यूनिट को सौंप दी। वहां से 10 नवंबर की शाम अस्थियां लखीसराय जिले के किऊल स्टेशन लाई गई।

इकलौते बेटे को लेकर असमंजस में थे परिजन

 रामपुर निवासी किसान पिता रामानुज पांडेय एवं मां रेखा देवी पिछले साढ़े तीन माह से अपने बेटे को लेकर असमंजस में थे। राहुल का शव अगस्त में ही मिल गया था। हालांकि शव के क्षत विक्षत होने के कारण पुलिस ने डीएनए जांच की बात कर शव परिजनों को नहीं दिया था और दाह संस्कार कर अस्थियां रख ली थी।

Find Us on Facebook

Trending News