जुर्माना का खौफ : ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वालों की संख्या में भारी उछाल,सड़क छोड़ गली- गली तय कर रहे शहर का रास्ता

जुर्माना का खौफ : ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वालों की संख्या में भारी उछाल,सड़क छोड़ गली- गली तय कर रहे शहर का रास्ता

NEWS4NATION DESK : 1 सितंबर से नया मोटर वाहन अधिनियम लागू होने के बाद पटना में अभी तक 1259 वाहनों से 13 लाख का जुर्माना वसूला गया है। उसका परिणाम यह हुआ है कि डीटीओ कार्यालय में ड्राइविंग लाइसेंस बनाने वाले आवेदकों की संख्या में 3 गुना तक बढ़ोतरी हो गई है।

बता दें कि आज से नया मोटर वाहन अधिनियम के तहत पटना ट्रैफिक पुलिस विशेष अभियान शुरू करने जा रही है। नए ट्रैफिक रूल्स ने गाड़ी चलाने वाले लोगों के बीच हाहाकार मचा दिया है।

कई गुना जुर्माना बढ़ जाने से कुछ लोग नाराज हैं तो कुछ लोग खुश भी हैं। कई लोग तो जुर्माने के खौफ से सड़क को छोड़कर गलियों से शहर का रास्ता तय कर रहे हैं। खौफ इतना है कि वर्दीधारी देखते हैं गाड़ी रोक कर पान की गुमटी धरने से बाज नहीं आ रहे। नजारा ऐसा दिख रहा है कि पुलिस जैसे ही आसपास भटकना शुरू करती है कि लोग गाड़ी लेकर रफूचक्कर हो जा रहे हैं। पता नहीं कौन सा कागजात मांग ले और कितने का जुर्माना ठोक दे।

पकड़े जाने के बाद रोना-धोना फिर बहानेबाजी अब चल नहीं रही। किसी भी कीमत पर जुर्माना भरना पड़ रहा है। कभी-कभी तो जुर्माने की रकम इतनी हो जा रही है कि लोग गाड़ी छोड़कर चल देना उचित समझ रहे हैं।

सहरसा में तो कल तीन नाबालिगों पर 81,500 का जुर्माना लगाया गया। अब भला सोचिए कि उस अभिभावक पर क्या गुजरता होगा जिसके बच्चे पर इतना भारी जुर्माना लगा होगा। आखिरकार देना तो अभिभावक को ही है। 

पटना डीटीओ कार्यालय के अधिकारी का कहना है कि पहले 1 दिन में एक से डेढ़ सौ तक ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदक आते थे, लेकिन आजकल 3 सौ का ग्राफ पार कर जा रहा है। 

वही हेलमेट की दुकान से लेकर प्रदूषण वाहन सर्टिफिकेट लेने वालों की भीड़ भी बढ़ गई है। कुल मिलाकर स्थिति यह है कि नया मोटर वाहन अधिनियम लागू होने के बाद सड़क पर वाहन लेकर निकलिए तो ड्राइविंग लाइसेंस अपने पास जरूर रखिए। अन्यथा जुर्माना इतना है की जिंदगी सड़क पर ही जंग बन जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News