बिहार में अब फाइलेरिया पर होगा हमला, औरंगाबाद, शेखपुरा और शिवहर जिले में चलेगा ट्रिपल ड्रग थेरेपी

बिहार में अब फाइलेरिया पर होगा हमला, औरंगाबाद, शेखपुरा और शिवहर जिले में चलेगा ट्रिपल ड्रग थेरेपी

PATNA : बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि राज्य से फाइलेरिया उन्मूलन के लिए स्वास्थ्य विभाग हर स्तर से प्रयास कर रहा है। इसको लेकर राज्य के तीन जिलों में ट्रिपल ड्रग थेरेपी (आईडीए) की शुरुआत करने की योजना है। इसमें औरंगाबाद, शिवहर एवं शेखपुरा जिला शामिल हैं। इसलिए फाइलेरिया के प्रभावी उन्मूलन को लेकर राज्य में ट्रिपल ड्रग थेरेपी की शुरुआत की जायेगी, ताकि राज्य से फाइलेरिया पूरी तरह विराम लग सके।  

पांडेय ने कहा कि आईडीए के लिए पहली बार वर्ष 2018 में देश के पांच जिलों का चयन किया गया था, जिसमें अरवल जिला भी शामिल था। यह बिहार के लिए हर्ष की बात थी कि देश के चयनित पांच जिलों में अरवल जिले में आईडीए राउंड की पहली बार शुरुआत हुई थी। अरवल में आईडीए राउंड के प्रभावी नतीजे भी देखने को मिले थे। इसी को ध्यान में रखते हुए अब पुनः राज्य के 3 जिलों में आईडीए राउंड की शुरुआत होने जा रही है। आईडीए के प्रयोग से कम समय में फाइलेरिया उन्मूलन संभव है। बहुत जल्द आईडीए राउंड की तिथि निर्धारित कर दी जायेगी। दो साल से कम उम्र के बच्चे, गर्भवती महिलाएं एवं अत्यंत गंभीर रोग से पीड़ित मरीजों को आईडीए का सेवन नहीं करना है।

पांडेय ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग राज्य के लोगों को विभिन्न बीमारियों के बेहतर उपचार और गंभीर बीमारी से निजात दिलाने के लिए हरसंभव प्रयास कर रहा है। फाइलेरिया उन्मूलन को लेकर राज्य में पूर्व से काम किया जा रहा है, लेकिन पूर्ण रूप से इस बीमारी को खत्म करने को लेकर विभाग द्वारा इसमें तेजी लायी गई है। फाइलेरिया उन्मूलन के लिए सामान्यतः दो दवाओं का उपयोग किया जाता रहा है, लेकिन फाइलेरिया उन्मूलन में ट्रिपल ड्रग थेरेपी काफ़ी कारगर एवं प्रभावी है।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News