भाजपा सांसदों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर, हवाईअड्डे पर सुरक्षा से किया था खिलवाड़, यह है मामला

भाजपा सांसदों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर, हवाईअड्डे पर सुरक्षा से किया था खिलवाड़, यह है मामला

DESK. भाजपा सांसदों पर हवाईअड्डे पर सुरक्षा मानकों से खिलवाड़ करने का आरोप लगा है. इसे लेकर बीजेपी के दो सांसदों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज की गई है. देवघर डीसी के आदेश पर सांसद निशिकांत डूबे और मनोज तिवारी सहित 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. देवघर एयरपोर्ट निदेशक संदीप ढींगरा समेत 9 पर देवघर के कुंडा थाने में केस दर्ज किया गया है. 

इसमें कहा गया है कि 31 अगस्त को दोपहर 1:50 बजे दिल्ली से देवघर एयरपोर्ट पर एक चार्टर्ड प्लेन उतरा. उसमें सांसद निशिकांत दुबे, मनोज तिवारी और कपिल मिश्रा के अलावा शेषाद्री दुबे, सुनील तिवारी समेत कुछ अन्य लोग थे. शाम 5:25 बजे प्लेन के यात्री व उनको छोड़ने वाले एयरपोर्ट पहुंचे. यात्री प्लेन के अंदर चले गए और गेट बंद हो गया. कुछ देर बाद दरवाजा खुला व पायलट एटीसी की तरफ चले गए. वह भी उनके पीछे गए.

एयरपोर्ट में नाइट टेकऑफ, लैंडिंग व आईएफआर सुविधा उपलब्ध नहीं होने के कारण एटीसी क्लीयरेंस संभव नहीं था. एटीसी कंट्रोल रूम में डायरेक्टर संदीप ढींगरा व पायलट की बात हो रही थी. कर्मियों पर दबाव डालकर बोला जा रहा था कि यात्रियों को आज ही लौटना जरूरी है इसलिए एटीसी क्लीयरेंस दिया जाए. कुछ देर बाद सांसद निशिकांत दुबे व मनोज तिवारी सहित अन्य भी एटीसी रूम में पहुंच गए और जल्द क्लीयरेंस के लिए दबाव बना रहे थे.

इसी को लेकर निशिकांत डूबे और मनोज तिवारी सहित 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. निशिकांत दुबे और अन्य लोग अंकिता हत्याकांड के मामले में देवघर आए थे. वे अंकिता के परिजनों से मिलने गए थे. हालांकि बाद में निशिकांत दुबे की ओर से दिल्ली में एक शिकायत दर्ज कराई गई है. इसमें कहा गया है कि निशिकांत और उनके दोनों बेटों के साथ झारखंड पुलिस के जवानों ने बदसलूकी की. उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई है. उन्होंने कहा कि वे हवाईअड्डा निदेशक के कार्यालय में एयरपोर्ट पर विमान का आवागमन नाइट लैंडिंग सुविधा से जुड़े मामले में जो हाईकोर्ट में मामला चल रहा है उसके बारे में जानकारी लेना चाहते थे. लेकिन उनके साथ देवघर डीसी के कहने पर उनके कार्य में बाधा पहुंचाई गई और बदतमीजी हुई.


Find Us on Facebook

Trending News