बिहार में बाढ़ का कहर जारी, बढ़ रहा मौत का आंकड़ा, 83 लाख की आबादी प्रभावित

बिहार में बाढ़ का कहर जारी, बढ़ रहा मौत का आंकड़ा, 83 लाख की आबादी प्रभावित

बिहार में बारिश का कहर जारी है। कई जिले बाढ़ की चपेट में हैं। लाखों लोग प्रभावित हैं। बाढ़ के इस तांडव ने लोगों की मुश्किलें काफी बढ़ा दी हैं। इस बीच बाढ़ के कारण समस्तीपुर-दरभंगा रेलमार्ग पर ट्रेनों की आवाजाही भी रोक दी गई है। इस कारण से कई ट्रेनें निरस्त हुई हैं, जिससे लोगों की मुश्किलें और बढ़ गई हैं।


आपदा विभाग के आंकड़े के मुताबिक सूबे में अब तक बाढ़ से 127 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 82 लाख 83 हजार से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं।गैर सरकारी आंकड़े के अनुसार बाढ़ से 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

बिहार के 13 जिले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं। बिहार का उत्तरी हिस्सा पिछले करीब एक पखवाड़े से बाढ़ से बेहाल है। कई सड़कें पानी से लबालब भरी हैं तो खेत जलमग्न हो गए हैं। घरों के भीतर पानी बह रहा है तो बाजार और गलियां बंद हैं। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लोग या तो ऊचें स्थानों पर शरण लिए हुए हैं या फिर अपने घरों में कैद होकर रह गए हैं।
 
 बाढ़ के कारण अब परिवहन सेवाएं भी बाधित हो रही हैं। रविवार को समस्तीपुर-दरभंगा रेलमार्ग पर ट्रेनों की आवाजाही रोकनी पड़ी।

जल संसाधान विभाग के मुताबिक कोसी के जलस्तर में वीरपुर बैराज के पास शुक्रवार की तुलना में शनिवार को कमी आई है। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद बागमती, बूढ़ी गंडक, कमला बलान, अधवारा समूह की नदियां, खिरोई और महानंदा राज्य के विभिन्न स्थानों पर खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं।

Find Us on Facebook

Trending News