बिहार में बाढ़ः रिहायशी इलाकों में कमर तक भरा पानी, स्कूल सहित पंचायत भवन डूबे, लोग जल कैदी बनकर काट रहे दिन

बिहार में बाढ़ः रिहायशी इलाकों में कमर तक भरा पानी, स्कूल सहित पंचायत भवन डूबे, लोग जल कैदी बनकर काट रहे दिन

KHAGARIA: खगड़िया में आई बाढ़ ने बाढ़ पीड़ितों को जलकैदी का जीवन जीने को मजबूर कर दिया है। जिले के सदर प्रखंड के रहीमपुर उत्तरी, रहीमपुर मध्य और रहीमपुर दक्षिणी पंचायत का बुरा हाल है। इन इलाकों में सिर्फ बाढ़ का पानी ही पानी दिखता है।

इन पंचायतों में बने सैकड़ों घर, मुख्य सड़कें, स्कूल, पंचायत भवन, हर जगह पानी भर गया है। कहीं- कहीं तो कमर भर से भी ज्यादा पानी भरा हुआ है। हालात इतने बुरे हैं कि नाव औऱ जुगाड़ नाव के अलावा परिचालन का कोई अन्य साधन मौजूद नहीं है। सोचने वाली बात यह है कि यदि इस विभीषिका के बीच कोई आपात स्थिति आ गई, तो उस वक्त लोग क्या करेंगे? कुछ पीड़ित परिवार आशियाना छोड़कर ऊंचे जगहों पर शरण ले चुके हैं। वहीं कुछ परिवार अपने घर के सामानों की हिफाजत के लिए पानी के बीच ही जीवन काट रहे है। जिन इलाकों में पहली मंजिल तक पानी पहुंच गया है, वहां के लोग छत पर तंबू गाड़कर शरणार्थी समान जीवन बिता रहे हैं। जहां उन्हें चिलचिलाती धूप और वर्षा का भी सामना करना पर रह है।

कुल मिलाकर तीनों पंचायत की 25 हजार से अधिक आबादी प्रकृति की मार से बेदम है। शहर से गांवों से जोड़ने वाली सड़कों पर भी पानी लग गया है, जिससे बड़ी मशक्कत से आवाजाही संभव हो पा रही है। इसी बीच प्रशासनिक सहायता या मदद की बात की जाए तो जिला प्रशासन ने इलाकों में नाव की व्यवस्था की है, लेकिन प्रशासनिक व्यवस्था इन बाढ़ पीड़ितों के लिए नाकाफी साबित हो रही है। लोग त्राहिमाम कर रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News