खाद्य और उपभोक्ता मंत्री ने की प्रमंडलीय समीक्षा बैठक, धान अधिप्राप्ति को लेकर अधिकारियों को दिए कई निर्देश

खाद्य और उपभोक्ता मंत्री ने की प्रमंडलीय समीक्षा बैठक, धान अधिप्राप्ति को लेकर अधिकारियों को दिए कई निर्देश

PURNEA : पूर्णिया में बिहार सरकार की खाद्य व उपभोक्ता संरक्षण मंत्री लेसी सिंह और खाद्य आपूर्ति सचिव विनय कुमार ने धान अधिप्राप्ति को लेकर प्रमंडलीय समीक्षा बैठक की। इस बैठक में प्रमंडलीय आयुक्त राहुल रंजन महिवाल, पूर्णिया के डीएम राहुल कुमार, अररिया, किशनगंज और कटिहार के डीएम समेत कई अधिकारी मौजूद थे। इस मौके पर मंत्री लेसी सिंह ने कहा कि इस बार पूर्णिया और कोसी प्रमंडल के किसानों के लिए 1 नवंबर से ही धान की खरीद शुरू कर दी गई है। ताकि किसानों को कम दाम पर बिचौलिए के हाथों धान नहीं बेचना पड़े। वही 48 घंटे के अंदर भुगतान का भी निर्देश दिया गया है। विभागीय सचिव विनय कुमार ने कहा कि पूर्णिया प्रमंडल में धान क्रय की स्थिति काफी अच्छी है। किसानों को समय पर भुगतान भी हो रहा है। उन्होंने कहा कि विभाग इन चारों जिलों का टारगेट बढ़ाने पर भी विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि समीक्षा बैठक में पाया गया कि इन चारों जिलों में मीलरों से भी पैक्सों को टैग कर लिया गया है। कई जगह मिलर धान का चावल बना कर भी एसएफसी को दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि 95% लोगों का राशन कार्ड मिल गया है। इन लाभुकों को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत फ्री में अनाज मिल रहा है।


उधर नालंदा जिले के दहपर स्थित पटेल एग्रो वेयरहाउस मिल का नालंदा जिला केंद्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार ने निरीक्षण किया। निरीक्षण में अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार के साथ बैंक के निदेशक मंडल के सदस्य, जिला आपूर्ति पदाधिकारी,जिला सहकारिता पदाधिकारी, जिले के पैक्स अध्यक्षों, व्यापार मंडल अध्यक्ष भी उपस्थित थे। निरीक्षण के बाद अध्यक्ष अमरेंद्र कुमार ने बताया कि धान अधिप्राप्ति कार्यक्रम सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना को सफल बनाने का दायित्व पैक्स,केंद्रीय सहकारी बैंक व राज्य खाद्य निगम का है। इस वर्ष 2021- 2022 में सरकार द्वारा उसना चावल का प्राथमिकता दिया गया है। इंसी को लेकर जिला प्रसाशन द्वारा वर्तमान में चयनित जिले के 198 पैक्सों को पटेल एग्रो, पटेल वेयर हाउस में मिलिंग के लिए टैग किया गया है। इसके अतिरिक्त दस पैक्स टैगिंग की प्रक्रिया में है। अत्यधिक संख्या में पैक्स का टैगिंग को लेकर परेशानी होने की आशंका के कारण पैक्स व व्यापार मंडल इस मिल से जुड़ने में हिचक रहे हैं। 

पैक्सों को कोई कठिनाई नहीं हो और किसानों के हित में सफलता पूर्वक धान अधिप्राप्ति कार्य सुचारू रूप से हो। इसी उद्देश्य से मिल का निरीक्षण किया गया है। निरीक्षण के दौरान पाया गया है कि मिलिंग क्षमता व गोदाम क्षमता के अनुसार कोई कठिनाई नहीं होनी चाहिए। भविष्य में बाधाकारी स्थिति उत्पन्न होने पर मिलिंग के लिए पुनः विचार किया जायेगा। अधिप्राप्ति कार्य मे संलग्न पैक्स अध्यक्ष संतुष्ट हो तो अधिप्राप्ति कार्य में तेजी आयेगी और बैंक भी आवश्यकतानुसार वितीय सहायता प्राप्त करने में तत्त्पर रहेगा। पूर्व वर्ष की तरह इस वर्ष भी शत प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त किया जाएगा और अधिक से अधिक किसानों को   समर्थन मूल्य का लाभ मिलेगा। मौके पर पंकज कुमार, विनोद कुमार,सूर्यकांत मंडल,प्रमोद कुमार, सत्येंद्र कुमार,सुधीर प्रसाद सहित अन्य मौजूद थे।

पूर्णिया से तहजीब और नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News