सांसद अरुण कुमार के लिए अपनों ने भी बंद किये दरवाजे, जगह-जगह दिखाए जा रहे काले झंडे और वापस जाओ के लग रहे नारे

PATNA : जहानाबाद के सांसद अरुण कुमार अब अपने घर में ही घिर गए हैं। पहले राजनीतिक दलों ने   सांसद अरुण कुमार के लिए अपने दरवाजे बंद किये। इसके बाद अब तो उनके समाज के लोग भी उन्हें अपने गांव में घुसने नही दे रहे।

अरुण कुमार के लिए अब अपने ही  बेगाने बन गए हैं। बेटिकट  किए जाने के बाद  उन्होंने जहानाबाद से निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान किया, लेकिन उन्होंने जिसके बल पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया वही अब सबक सिखाने के मूड में हैं। चुनाव की घोषणा होने के बाद जहानाबाद के सांसद अरुण कुमार  क्षेत्र के भ्रमण पर हैं। लेकिन उन्हें जनता की सहानुभूति के बजाय विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

शनिवार को  जहानाबाद के  मोदनगंज बेना गांव में उनके अपने ही समाज के लोगों ने जबरदस्त विरोध किया। स्थानीय लोगों ने उन्हें गांव में घुसने नहीं दिया और बाहर में काले झंडे दिखाए। जब अरुण कुमार ने उन्हें समझाने का प्रयास किया तो ग्रामीण और भी उग्र हो गए और अरुण कुमार मुर्दाबाद, सांसद वापस जाओ के नारे लगाने लगे। काफी प्रयास के बाद भी जब आक्रोशित गांव वाले नहीं मानें तो मजबूर होकर वे बेना गांव के बाहर से ही बैरंग वापस लौट गए।

ग्रामीणों का कहना था कि आज उन्हें अपने समाज की याद आ रही है, लेकिन जब उन्हें कुछ करने की  जिम्मेदारी हम लोगों ने दी थी तो उन्होंने सवर्णों से कन्नी कटा लिया था। ऐसे में इस तरह के नेताओं को सबक सिखाना जरूरी हो गया है।

यहां बता दें कि  अरुण कुमार 2014 में  आरएलएसपी के टिकट पर जहानाबाद से सांसद बने थे। लेकिन कुछ ही दिनों के बाद उन्होंने पार्टी से बगावत कर दी और अलग गुट बना लिया। इसबार वे महागठबंधन से टिकट के फिराक में थे, लेकिन महागठबंधन ने उन्हें तवज्जो नहीं दी। अब थक हारकर उन्होंने एक बार फिर से जहानाबाद से निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। लेकिन अब उन्हें जगह-जगह काले झंडे दिखाए जा रहे हैं और विरोध में नारे लग रहे हैं।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News