बेटी की हत्या की साजिश में बिहार के पूर्व विधायक सुरेन्द्र शर्मा गिरफ्तार, बेटी के अंतरजातीय विवाह से नाराज पूर्व MLA ने दी 20 लाख सुपारी

बेटी की हत्या की साजिश में बिहार के पूर्व विधायक सुरेन्द्र शर्मा गिरफ्तार, बेटी के अंतरजातीय विवाह से नाराज पूर्व MLA ने दी 20 लाख सुपारी

पटना. बेटी के अंतरजातीय विवाह से नाराज सारण के पूर्व विधायक सुरेंद्र शर्मा ने उसकी हत्या के लिए 20 लाख रुपए की सुपारी दी थी. पटना पुलिस ने पूर्व विधायक की साजिश का पर्दाफाश करते हुए सुरेन्द्र शर्मा सहित सुपारी लेने वाले कुख्यात बदमाश छोटे सरकार उर्फ़ अभिषेक सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने रविवार को बताया कि सुरेन्द्र शर्मा अपनी बेटी के अंतरजातीय विवाह से नाराज थे. इस कारण उन्होंने उसकी हत्या यानी ऑनर किलिंग का प्लान किया. सुरेन्द्र शर्मा ने छोटे सरकार से सम्पर्क किया जो पहले ही पूर्व विधायक चितरंजन शर्मा के चाचा, भाइयों सहित कुल चार लोगों की हत्या कर चुका है. 

पुलिस के अनुसार सुरेंद्र शर्मा की बेटी पटना के बोरिंग रोड में रहती थी. छोटे सरकार उसे वहीं मारने की तैयारी में था. इसके लिए उसे 20 लाख की सुपारी मिलनी थी. हालांकि पूर्व विधायक चितरंजन शर्मा के चाचा और भाइयो सहित चार लोगों की हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी पुलिस ने जब छोटे सरकार को गिरफ्तार किया तब उसने सनसनीखेज खुलासा किया. 

31 मई को पटना के पत्रकार नगर थाना क्षेत्र में पूर्व विधायक चितरंजन सिंह के दो सगे भाइयों शंभू सिंह गौतम सिंह की हत्या हुई थी. इसके आलावा 26 अप्रैल को चितरंजन सिंह के सगे चाचा अभिराम शर्मा को जहानाबाद में उनके आवास में घुसकर एवं भतीजे दिनेश शर्मा को मसौढ़ी स्थित उनकी दुकान में घुसकर आधे घंटे के अंतराल पर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इन चारों हत्याओं की जांच में पुलिस छोटे सरकार तक पहुंची. छोटे सरकार की पहचान चितरंजन सिंह के विरोधी संजय सिंह के करीबी के रूप में है. वर्ष 1992 में चितरंजन और संजय दोनों ही पांडव सेना से जुड़े थे. इनके बीच पिछले कई वर्षों से अदावत चल रही थी. पुलिस के अनुसार संजय ने ही छोटे सरकार की मदद चितरंजन सिंह के चार परिजनों की हत्या कराई थी. 

पुलिस ने जब छोटे सरकार को पकड़ा तो उसने बताया कि वह चितरंजन के परिजनों की हत्या के बाद नेपाल, झारखंड और पश्चिम बंगाल चला गया था. पिछले दिनों ही वह पटना आया था. उसे पटना में एक और हत्या सुरेन्द्र शर्मा के बेटी की करनी थी. सुरेन्द्र की बेटी ने अंतरजातीय विवाह किया था इससे वह नाराज थे. बेटी की हत्या के लिए 20 लाख सुपारी दे रहे थे. हालांकि छोटे सरकार की गिरफ्तारी से लड़की की जान बच गई. 

पुलिस ने पटना के बिहटा के सिकंदरपुर थाना क्षेत्र निवासी छोटे सरकार और उसके भाई राहुल और उसकी निशानदेही और बयान पर सुरेन्द्र शर्मा और उसके गुर्गे ज्ञानेश्वर शर्मा सहित कुल चार लोगों गिरफ्तार किया है. पुलिस ने एक देशी पिस्टल, 2 देशी कट्टा, 1 मैगजीन, 9 जिन्दा कारतूस, एक बाइक बरामद की है.


Find Us on Facebook

Trending News