नए साल में पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने जताई संभावना, कहा नीतीश कुमार को छोड़नी पड़ेगी कुर्सी, शराबबंदी की करनी पड़ेगी समीक्षा

नए साल में पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने जताई संभावना, कहा नीतीश कुमार को छोड़नी पड़ेगी कुर्सी, शराबबंदी की करनी पड़ेगी समीक्षा

PATNA : बिहार सरकार के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने बिहार की जनता को नव वर्ष की बधाई दी और आशा प्रकट की कि सन् 2023 उथल-पुथल के बावजूद बड़े सकारात्मक बदलाव का साल होगा। मोदी ने कहा कि इस साल बिहार में नीतीश कुमार को कुर्सी छोड़नी पड़ेगी, महागठबंधन के कई लोग एनडीए से जुड़ेंगे, शराबबंदी की समीक्षा करनी पड़ेगी और देश के 9 राज्यों के विधानसभा चुनावों में भाजपा फिर सरकार बनाएगी। 


उन्होंने कहा कि समझौते के तहत लालू प्रसाद अब मुख्यमंत्री की कुर्सी तेजस्वी यादव को सौंपने के लिए नीतीश कुमार को बाध्य करेंगे। मोदी ने कहा कि नीतीश कुमार ने 2025 का विधानसभा चुनाव तेजस्वी यादव के नेतृृत्व में लड़ने की घोषणा से जदयू और महागठबंधन के भीतर जो बौखलाहट पैदा की, उसकी प्रतिक्रिया इसी साल देखने को मिलेगी। 

उन्होंने कहा कि इस साल नीतीश कुमार को हाईकोर्ट के दबाव में तथाकथित पिछड़ा वर्ग आयोग की वह रिपोर्ट सार्वजनिक करनी पड़ेगी, जो आनन-फानन में मनमाने ढंग से तैयार कर रख ली गई है। मोदी ने कहा कि सरकार जहरीली शराब से मौत की घटनाओं के दबाव में शराबबंदी लागू करने के तौर-तरीकों की समीक्षा के लिए बाध्य होगी। 

उन्होंने आशा प्रकट की कि भाजपा की मांग को  स्वीकार कर नीतीश कुमार इस साल शराबबंदी से जुड़े वे मुकदमें वापस लेंगे, जिसके कारण 4 लाख लोगों को जेल जाना पड़ा। इस एक फैसले से 4 लाख लोगों का नया साल अच्छा हो सकता है। 

Find Us on Facebook

Trending News