पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने सीएम नीतीश पर कसा तंज, कहा फुस्स हुआ विपक्षी एकता का गुब्बारा, किसी ने नहीं दिया भाव

पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने सीएम नीतीश पर कसा तंज, कहा फुस्स हुआ विपक्षी एकता का गुब्बारा, किसी ने नहीं दिया भाव

NEW DELHI : बिहार सरकार के पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने कहा कि नीतीश कुमार को विपक्ष का कोई दल भाव नहीं दे रहा है, इसलिए हताश होकर खुद को पीएम-पद की रेस से बाहर बता रहे हैं। वे तीन महीने से दिल्ली नहीं गए और जिनसे मिल कर आए थे, उनमें से किसी ने पलट कर पूछा नहीं। 


मोदी मे कहा कि नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा के दबाव में एनडीए से नाता तोड़ा, स्वयं को पीएम प्रोजेक्ट करने वाले नारे लगवाये और बिहार की तरह देश का नेतृत्व करने के इरादे जहिर करने वाले होर्डिग तक लगवाये। अब कह रहे हैं कि वे इस स्पर्धा में नहीं हैं। यह दोहरापन लोग देख रहे हैं।

उन्होंने 2024 के संसदीय चुनाव में राहुल गांधी को पीएम-प्रत्याशी बनाने की मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की राय का स्वागत किया और कहा कि भाजपा भी चाहती है कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और  राहुल गांधी के बीच सीधा मुकाबला हो। नीतीश कुमार को कोई स्वीकार नहीं करेगा। मोदी ने कहा कि नीतीश कुमार को न राहुल गांधी ने अपनी यात्रा में बुलाया, न सोनिया गांधी को पंजाब चुनाव के बाद मिलने का वक्त देने की बात याद रही। कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे को भी पद ग्रहण किये दो महीने हो गए, लेकिन नीतीश कुमार को बुलावा नहीं आया। 

उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने विपक्षी एकता का जो गुब्बारा उड़ाया था , वह फुस्स हो चुका है। ममता बनर्जी , केसीआर, केजरीवाल-सबने हाथ खींच लिए। मोदी ने कहा कि अखिलेश यादव, मायावती, जयंत चौधरी राहुल गांधी की यात्रा में शामिल होने से इनकार कर चुके हैं। केजरीवाल किसी दल से गठबंधन या तालमेल करने को तैयार नहीं। जनता परिवार की एकता के प्रयास भी विफल रहे। 

नई दिल्ली से धीरज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News