मोतिहारी में मृतक के परिजन से मिले पूर्व मंत्री महाचन्द्र प्रसाद सिंह, कहा- पुलिस की निष्क्रियता से हुई दोनों भाइयों की हत्या

मोतिहारी में मृतक के परिजन से मिले पूर्व मंत्री महाचन्द्र प्रसाद सिंह, कहा- पुलिस की निष्क्रियता से हुई दोनों भाइयों की हत्या

मोतिहारी. दो दिन पूर्व बेखौफ अपराधियों ने दो सगे भाइयों की हत्या कर दी थी। पीड़ित परिजन से मिलने शुक्रवार अहले सुबह बिहार सरकार के पूर्व मंत्री महाचन्द्र प्रसाद सिंह पहुंचे। पूर्व मंत्री में कोटवा थाना के जसौली पटी गांव पहुंचकर सेवा नृवित शिक्षक को सान्त्वना दिया।वहीं पूर्व मंत्री ने प्रेस को संबोधित करते हुए बताया कि पुलिस निष्क्रियता के कारण अपराधी बेलगाम हो गए हैं। अगर पूर्व में हुई घटना को पुलिस गंभीरता से लेती तो आज दो सगे भाइयों की जान नहीं जाती। 

उन्होंने कहा कि पुलिस की निष्क्रियता के कारण अपराधी का मनोबल सातवे आसमान पर है। जिलावासी अपने आप को महफूज महसूस नहीं कर रहे हैं। उन्होंने सरकार से पीड़ित परिवार को मुआवजा देने और उनके छोटे बच्चे की पढ़ाई व भरण पोषण करने की मांग सरकार से की है।

मोतिहारी में दो दिन पहले कोटवा थाना के जसौली पट्टी गांव के सेवा नृवित शिक्षक के दो पुत्र मोहन कुमार व सोहन कुमार की डियूटी जाने के दौरान गोली मारकर अपराधियों द्वारा हत्या कर दी गयी थी। एक घर से दो चिराग बुझने की खबर सुन क्षेत्र में सनसनी फैल गयी थी। घटना से परिवार में कोहराम मच गया था। घटना स्थल पर ऐसा कोई नहीं था, जिसकी आंख नम नहीं हुई हो। घटना के तीन दिन बीतने के बाद भी पुलिस के हाथ अभी खाली बताये जा रहे हैं।

डबल मर्डर के पीड़ित परिवार से मिलने के बाद पूर्व मंत्री महाचन्द्र प्रसाद सिंह की आंखें भी नम हो गयी। उन्होंने पीड़ित परिवार को सान्त्वना देने के बाद तुरन्त जिला के एसपी, कमिश्नर, डीजीपी को फोन लगाया गया, लेकिन फोन नहीं रिसीव होने पर डीएसपी से बातकर त्वरित कार्रवाई की बात कही गयी। वहीं पूर्व मंत्री ने स्पष्ट कहा कि पुलिस की निष्क्रियता के कारण सुबह सुबह दोनों सगे भाई की हत्या हुई है।

पुलिस निष्क्रियता के कारण अपराधियों का मनोबल बढ़ा हुआ है। सरकार की पूरी जिम्मेदारी है कि पूरे सूबे की लोगों की जान माल की रक्षा करे। पूर्व मंत्री ने कहा कि पूरे इलाके में लोग पुलिस की भूमिका नगण्य की बात कह रहे हैं। सरकार पीड़ित परिवार को मुआवजा देने के साथ साथ बच्चों की पढ़ाई लिखाई सहित भरण पोषण का भी खर्च उठाए।

Find Us on Facebook

Trending News