बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने पर बोले पूर्व मंत्री शाहनवाज हुसैन, कहा उद्योगपतियों को लालटेन से डर लगता है

बिहार में महागठबंधन की सरकार बनने पर बोले पूर्व मंत्री शाहनवाज हुसैन, कहा उद्योगपतियों को लालटेन से डर लगता है

SUPAUL : लालटेन तीर में लटक गया है, अब बिहार में सरकार जदयू की नहीं बल्कि राजद की है। यह बात पूर्व उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कही है। गुरूवार को सुपौल स्थित अपने  पैतृक आवास पहुंचे सैयद शाहनवाज हुसैन ने मीडिया से मुखातिब होकर वर्तमान राजनैतिक घटनाक्रम को लेकर कई अहम बातें कही।


उन्होंने कहा कि आज हमलेगों का धरना विश्वास घात के खिलाफ हुआ है। उन्होंने कहा कि कोई भी घर छोड़कर जाता है तो उसे बहाना चाहिए। लेकिन मुख्यमंत्री बिना किसी बहाने के चले गए। दो दिन पहले ही बात हुई। लेकिन कोई जानकारी इस तरह की नहीं मिली। लगता है की जदयू के लोग खिचड़ी पका रहे थे। कहते हैं न की रोने का मन हो तो कहते हैं कि आंख में कुछ डल गया है। हमलोगों ने उनका सदा सम्मान किया वो 43 जीते हमने 74 जीता। फिर भी हमलोगों ने पीएम के निर्देश पर उन्हें मुख्यमंत्री माना।  उन्हें सम्मान दिया। कहीं से किसी तरह से उनके सम्मान में कोई कमी नहीं हुई। 

उन्होंने कहा की आज की हालत है की जदयू के तीर में लालटेन लटक गया है।  अब जदयू का नहीं बल्कि राजद का राज हो गया है। भले ही वो मुख्यमंत्री हैं लेकिन राज राजद का आ गया है। उन्होंने कहा कि उद्योग मंत्री के तौर पर हमने 80 फीसदी रेट घटा दिया।  कई उद्योग पर काम चल रहा है। लेकिन अब तो बात और है। उद्योगपति को तो लालटेन से ही डर लगता है। आगे जो हो, बावजूद हम बिहारी होने के नाते उद्योगपतियों से यही कहेंगे कि वो बिहार आए और कहीं कोई दुश्वारी होती है तो मुख्यमंत्री से कहेंगे। जदयू बीजेपी की सरकार रहती तो विकास कार्य आगे बढ़ता।

उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री ने कहा की जो 14 में जीत कर आए हैं उन्हें 24 में जवाब देना पड़ेगा। उनकी नजर 24 पर है। कहा जदयू ने 14 में 2 सीट जीते लेकिन 24 में तो जीरो पर आउट होने वाले है। शाहनवाज हुसैन ने कहा की चूंकि अब हमलोग विपक्ष में हैं। लिहाजा हर तरह से विपक्ष की भूमिका अदा करेंगे। कहा की लोगों ने मन बना रखा है मोदी जी को पीएम बनाने का। भले ही पीएम बनने का ख्वाब  कोई देख रहा हो। लेकिन 2024 में नरेंद्र मोदी ही पीएम बनेंगे। इस मौके पर भाजपा के सुमन चंद,महेश देव, सुमन झा सहित कई कार्यकर्ता मौजूद रहे।

सुपौल से पप्पू आलम की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News