लालू यादव को अपनी जगह राघोपुर से चुनाव लड़ाने वाले पूर्व मंत्री उदय नारायण का निधन, राबड़ी-तेजस्वी को भी बनवाया MLA, सीएम को हराया था चुनाव

लालू यादव को अपनी जगह राघोपुर से चुनाव लड़ाने वाले पूर्व मंत्री उदय नारायण का निधन, राबड़ी-तेजस्वी को भी बनवाया MLA, सीएम को हराया था चुनाव

पटना. बिहार के पूर्व मंत्री उदय नारायण राय उर्फ भोला राय का निधन हो गया. वे 90 वर्ष के थे और पटना में इलाज के दौरान गुरुवार को उन्होंने अंतिम सांस ली. वे वैशाली के राघोपुर के रुस्तमपुर गांव का रहने वाले थे. उन्होंने एक दौर में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के लिए राघोपुर की सीट छोड़ दी थी. लम्बे अरसे तक वे राजद के कद्दावर नेता रहे. वे लालू-राबड़ी राज में ईख एवं हस्तकरधा उद्योग मंत्री भी थे. 

हालांकि उन्होंने वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव के दौरान राजद छोड़ दिया था. वे राजद से नाराज बताए गए थे. लालू-राबड़ी शासनकाल में उदय नारायण राय मंत्री थे. राय ने ही 1995 में लालू यादव के कहने पर राघोपुर विधान सभा सीट छोड़ी थी. बाद में इसी सीट से लालू यादव 1995 से लेकर 2005 तक विधायक रहे. उनके बाद 2005 से 2010 तक राबड़ी देवी राघोपुर सीट से विधायक रहीं. हालांकि, 2010 में राबड़ी देवी को जेडीयू के सतीश कुमार यादव ने हरा दिया था. बाद में 2015 के चुनावों में लालू यादव ने में तेजस्वी की सैफ लैंडिंग इसी सीट से कराई थी. उस दौरान भी उदय नारायण राय उर्फ भोला राय ने तेजस्वी के लिए जमकर फील्डिंग की थी. 


वर्ष 1980 में तब के उपमुख्यमंत्री रामजयपाल सिंह यादव को हराकर विधायक बने भोला राय तीन-तीन बार विधायक और मंत्री रहे. बाद में लालू परिवार के लिए त्याग किया और खुद को राघोपुर सीट से अलग कर लिया. उसी के बाद लालू परिवार की दो पीढ़ी राघोपुर सीट से चुनाव जीतते रही है. इसमें लालू, राबड़ी और तेजस्वी का नाम जुड़ चुका है. 

अपने विशेष अंदाज और लालू यादव के सबसे करीबी नेताओं में शामिल रहे भोला राय के निधन को एक प्रकार से लालू परिवार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. भले उन्होंने अंतिम समय में राजद से  इस्तीफा दिया और जदयू से जुड़ गए लेकिन उनके और लालू यादव के रिश्ते काफी प्रगाढ़ बने रहे. अंत समय तक दोनों की एक दूसरे से मुलाकात की कई खबरें आती रही. उनके निधन पर कई नेताओं ने शोक जताया है. 


Find Us on Facebook

Trending News