मकर संक्रांति को लेकर पूर्व एमएलसी रणवीर नंदन ने बिहारवासियों को दी बधाई, सुख, समृद्धि और शान्ति का किया कामना

मकर संक्रांति को लेकर पूर्व एमएलसी रणवीर नंदन ने बिहारवासियों को दी बधाई, सुख, समृद्धि और शान्ति का किया कामना

PATNA : जदयू के पूर्व विधान पार्षद रणवीर नंदन ने बिहार और देशवासियों को मकर संक्रांति की बधाई दी है। साथ ही इस मौके पर उन्होंने बिहार में सुख, शान्ति और आपसी भाईचारे की कामना की है। वहीँ मकर संक्रांति को लेकर रणवीर नंदन ने बिहार के लोगों के स्वास्थ्य और समृद्धि के लिए प्रार्थना की है। 

बताते चलें की इस साल मकर संक्रांति 15 जनवरी को मनाई जाएगी। इस दिन पर्व का का पुण्य काल 14 तारीख को रात 8.49 से 15 जनवरी को दोपहर 12.49 तक रहेगा। चूंकि सूर्य भगवान का धनुराशि से मकर राशि में प्रवेश 14 को रात 8.49 बजे हो रहा है, अस्तु उदय कालीन स्थित के अनुसार मकर संक्रांति पर्व 15 को मनाया जाना उचित होगा। शास्त्रों के अनुसार इस दौरान स्नान-दान से कई गुना फल प्राप्त होता है। इस वर्ष मकर संक्रांति पर सूर्य, शनि, बुध , मकर राशि में होंगे। इस स्थिति को मकर संक्रांति के लिए बेहद शुभ फलदायी माना गया है। सूर्यदेव के साथ नवग्रहों का विधि-विधान से पूजन करने पर व्यक्ति को मनचाहा वरदान प्राप्त होता है।

गौरतलब है की मकर संक्रांति के दिन दान का विशेष महत्व होता है। इस दिन व्यक्ति को अपने सामर्थ्यनुसार  दान अवश्य करना चाहिए। साथ ही पवित्र नदियों में स्नान करना चाहिए। इस दिन खिचड़ी का दान देना विशेष फलदायी माना जाता है। वहीँ गुड़-तिल, रेवड़ी, गजक आदि को प्रसाद के रूप में बांटना भी शुभ माना गया है। इस दिन सूर्य देव पूर्व से उत्तर की ओर गमन करने लगते है, इसी को उत्तरायण कहते हैं। इस समय से सूर्य की किरणें शुभता, सेहत और शांति को बढ़ाती हैं। जो आध्यात्मिक क्रियाओं से जुड़े व्यक्ति हैं उन्हें शांति और सिद्धि प्राप्त होती है, और सामान्य गृहस्थ जनों को सांसारिक सुखों की प्राप्ति होती है। स्वयं भगवान कृष्ण ने  कहा है कि उत्तरायण के 6 माह के शुभ काल में, जब सूर्य देव उत्तरायण होते हैं, तब पृथ्वी प्रकाशमय होती है।

वंदना शर्मा की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News