थाने से शराब बिक्री मामले के आरोपी पूर्व थानाध्यक्ष अमिताभ को HC बड़ी राहत, अगली सुनवाई तक गिरफ्तारी पर रोक

थाने से शराब बिक्री मामले के आरोपी पूर्व थानाध्यक्ष अमिताभ को HC बड़ी राहत, अगली सुनवाई तक गिरफ्तारी पर रोक

PATNA :  मुजफ्फरपुर जिले थाने से शराब बिक्री मामले के आरोपी मोतीपुर थाना के सस्पेंड थानाध्यक्ष कुमार अमिताभ के लिए एक राहत वाली खबर है। पटना हाईकोर्ट ने अगली सुनवाई तक उनकी गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। बता दें कि मुजफ्फरपुर कोर्ट से अग्रिम जमानत याचिक खारिज होने के बाद कुमार अमिताभ हाईकोर्ट गये है। 

कुमार अमिताभ की ओर से मुजफ्फपुर कोर्ट से अग्रिम जमानत याचिक खारिज होने के बाद हाईकोर्ट में दाखिल की गई अग्रिम जमानत याचिक पर आज सुनवाई हुई। हाईकोर्ट के जज दिनेश कुमार सिंह की एकल पीठ ने कुमार अमिताभ की याचिका पर सुनवाई करते हुए उनकी गिरफ्तारी पर अगली सुनवाई तक रोक लगा दी। 

सस्पेंड थानाध्यक्ष कुमार अमिताभ की ओर से वरीय अधिवक्ता व पूर्व मंत्री पीके शाही ने दलील पेश करते हुए कहा कि उत्पाद विभाग में कार्यरत उनके अपने ममेरे भाई ने यह सारी साजिशें रचीं। उन्होंने कोर्ट को बताया कि कुमार अमिताभ की मां का अपने भाई के साथ 2010 से विवाद चल रहा है। जिसे लेकर थानाध्यक्ष के मामा और उनके ममेरे भाई ने यह साजिश रची और उसका शिकार कुमार अमिताभ हो गए।  

कोर्ट ने दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद अगली सुनवाई तक कुमार अमिताभ की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी। 

बता दें कि उत्पाद विभाग के विशेष टीम को सूचना मिली थी कि मुजफ्फरपुर के मोतिपुर थाने के थानाध्यक्ष कुमार अमिताभ थाने में जब्त होने वाली शराब को थानेदार मालखाना में रखने की बजाय अपने आवास में रखते हैं। वही शराबबंदी के बाद अबतक मोतीपुर थाने में एक बार भी शराब नष्ट नहीं की गयी। 

जब्त शराब की हेराफेरी की सूचना पर 13 जनवरी रविवार रात पटना से आयी मद्य निषेध की टीम ने छापेमारी की थी। एसएसपी मनोज कुमार विशेष पुलिस टीम के साथ मौजूद थे। थाने को चारों ओर से घेर कर प्रत्येक कमरे की तलाशी ली गई थी।

वहीं उसके बाद उनपर विभागिए कार्रवाई करते हुए तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया गया था। 

Find Us on Facebook

Trending News