शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने त्यागा इस्लाम, डासना मंदिर में अपनाया हिंदू धर्म

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने त्यागा इस्लाम, डासना मंदिर में अपनाया हिंदू धर्म

नई दिल्ली. शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने इस्लाम छोड़ दिया है. उन्होंने इस्लाम छोड़कर हिंदू धर्म अपनाने की घोषणा की है. यानी वसीम अब मुस्लिम से हिंदू हो गये हैं. उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद स्थित डासना देवी मंदिर के महंत यति नरसिंहानंद गिरि से उन्होंने सनातन धर्म ग्रहण की प्रक्रिया पूरी कराई है. 

वसीम रिजवी अपनी प्रगतिशील सोच के लिए प्रसिद्ध हैं. उनके द्वारा इस्लाम से संबंधित कई मुद्दों पर दिए गये बयानों पर खूब हंगामा मच चुका है. यहाँ तक कि वसीम ने कुरान की 26 आयतों को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. आयतों को चुनौती देने के बाद कुछ लोगों ने वसीम को जान से मारने की धमकी दी थी. वहीं सुप्रीम कोर्ट ने उनकी याचिका ख़ारिज करते हुए 50 हजार रूपये का जुर्माना लगाया था. वहीं कुछ इस्लामिक संगठनों ने वसीम का विरोध करते हुए कहा कि वसीम की मौत के बाद उन्हें किसी कब्रिस्तान में दफनाने की जगह नहीं मिलनी चाहिए. वसीम ने इस संबंध में एक वीडियो संदेश जारी कर अपनी जान को खतरा बताया था. 

वसीम रिजवी ने हिंदू धर्म अपनाने के पूर्व ही कहा था कि जब उनकी मौत हो तब उनका अंतिम संस्कार हिंदू परम्पराओं के अनुरूप हो. उन्हें दफनाया नहीं जाए बल्कि अग्नि संस्कार हो. इसके लिए उन्होंने यति नरसिंहानंद गिरि को नामित करते हुए उन्हें अग्नि संस्कार करने की अनुमति प्रदान की है. वसीम रिजवी उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष हैं । ये एक लम्बे समय से इस पद आसीन थे। इन्होंने मायावती, अखिलेश यादव और योगी आदित्यनाथ सरकारों के काल में अपना काम अंजाम दिया है। वे फिल्म निर्माता भी हैं।

अब वसीम ने इस्लाम धर्म ही छोड़ने का निर्णय लेकर सबको चौंका दिया है. डासना देवी मन्दिर में विविध धार्मिक परम्परागत अनुष्ठानों के बाद वसीम को सनातन धर्म में शामिल करने की प्रक्रिया शुरू की गई. 


Find Us on Facebook

Trending News