पुलिस के हत्थे चढ़े कसाई चाचा ने किया खुलासा, जमीन के लालच में 7 साल के भतीजे की दी थी बलि

पुलिस के हत्थे चढ़े कसाई चाचा ने किया खुलासा, जमीन के लालच में 7 साल के भतीजे की दी थी बलि

जमुई... बिहार के जमुई मे बीते 22 फरवरी को सोनो थानाक्षेत्र के कुहिला गांव मे एक 7 वर्षीय बच्चे सौरभ कुमार की हत्या कर दी गई थी। यह घटना इतनी हृदय विदराक और मार्मिक थी कि इस घटना ने गांव के लोगों के साथ-साथ जिलेवासियों को झकझोर दिया था। इस घटना मे संलिप्त कुल चार लोगों के खिलाफ सोनो थाना में बच्चे के पिता केवल यादव ने प्राथमिकी दर्ज कराई। प्राथमिकी दर्ज होते ही मामले की गंभीरता को देखते हुए जमुई पुलिस अधीक्षक प्रमोद मंडल खुद कमान संभाल ली। खुद ही केस का अनुसंधान करने का निर्णय लिया और चार दिन के अन्दर ही पूरे मामले का पर्दाफाश कर हत्यारे सहित चारों आरोपी को गिरफ्तार कर सलाखों के पीछे पहुंचा दिया।

यह है पूरा मामला

यह हत्याकाण्ड सोनो थाना क्षेत्र के कुहिला गांव की है, जहां बीते 22 फरबरी के 4 बजे शाम के करीब एक नन्हा सा 7 वर्षीय मासूम सौरभ कुमार अपनी मां से यह कहकर घर से निकलता है कि पास के दुकान से बिस्कुट लेकर आ रहा हू, लेकिन उस मासूम को यह कहां पता था कि दुकान से बिस्कुट लेकर लौटते समय उसकी बलि दे दी जाएगी। वो भी उसके सगे चाचा तूफानी यादव के द्वारा, जो ताड़ी के नशे में धुत तलवार के एकमात्र वार मे ही उस मासूम के सर को धड़ से अलग कर दिया। इस घटना के बाद मानो बच्चे के घर सहित पूरे गांव में कोहराम मच गया। हत्या करने के बाद उसका चाचा फरार हो गया। इस दर्दनाक घटना ने पुलिस महकमे मे खलबली मचा दी। बच्चे के पिता केवल यादव ने अपने बच्चे की हत्या मे संलिप्त अपने चचेरे भाई तूफानी यादव सहित 4 लोगों के विरुद्ध हत्या के साजिश और हत्या करने का मामला दर्ज कराया।


इस मासूम की निर्मम हत्या का मामला दर्ज होते ही जमुई के पुलिस कप्तान प्रमोद मंडल ने मामले का संज्ञान लेते हुए घटनास्थल पर जाकर अनुसंधान किया। प्रथम दृष्टया पुलिस को लगा कि कहीं भूमि विवाद मे इस बच्चे की हत्या तो नही की गई, लेकिन जब घटनास्थल पर मिले चावल, सिंदूर और अन्य पूजा-पाठ की सामग्री से पुलिस दूसरे एंगल से खोजबीन शुरू की तो पता चला कि झाडफ़ूंक और तंत्र-मंत्र के चक्कर में बच्चे की हत्या की गई। 

मृतक के पिता केवल यादव के चचेरे भाई कारू यादव की नज़र केवल यादव की जमीन और चल संपत्ति पर थी, जिसको को हड़पने के लिए एक साजिश के तहत तांत्रिक बाबा के साथ मिलकर केवल यादव के सगे भाई तूफानी यादव को बहकावे में लेकर दोनों भाई के परिवार में एकमात्र वारिस सौरभ कुमार की हत्या करवा दी। यहां तक कि हत्या में इस्तेमाल हुए तलवार को भी कारू यादव ने ही अपने घर से लाकर दिया था। तांत्रिक और चचेरे भाई कारू यादव के बहकावे में यह कहकर लाया कि इस बच्चे के रहते तुम कभी पिता नहीं बन सकते हो, तुम्हारे हर समस्या का कारण यह मनहूस बच्चा सौरभ है। 

तांत्रिक बाबा और चचेरे भाई कारू यादव की बातों में आकर हत्या के दिन 22 फरवरी को शाम के चार बजे के पहले हत्यारे चाचा तूफानी यादव, तांत्रिक और कारू यादव ने ताड़ी पिया, फिर अपने घर में तांत्रिक के साथ पूजा-पाठ किया और दुकान से बिस्कुट लाने गए इस मासूम सौरभ कुमार की तलवार के एक झटके में सर से धड़ से अलग कर नरबलि दे दी। ये कहना है हत्यारे चाचा तूफानी यादव और जमुई के पुलिस अधीक्षक प्रमोद मंडल की। पुलिस अधीक्षक जमुई ने गिरफ्तार सभी आरोपियों के विरुद्ध एक सप्ताह के भीतर न्यायालय मे चार्जसीट दाखिल कर फांसी की सजा दिलाने की बात कही।

Find Us on Facebook

Trending News