शादी में खाने के बाद चार लोग हुए बीमार, अस्पताल की लचर व्यवस्था के कारण नहीं मिल पाया समुचित इलाज

शादी में खाने के बाद चार लोग हुए बीमार, अस्पताल की लचर व्यवस्था के कारण नहीं मिल पाया समुचित इलाज

नवादा. एक शादी समारोह में खाना खाने के बाद लोगों की तबीयत बिगड़ने लगी। खाना खाने के बाद  4 लोगों की हालत ज्यादा बिगड़ गयी। तबीयत बिगड़ने के बाद सभी को इलाज के लिए नवादा सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया. हालांकि सदर अस्पताल में समुचित उपचार व्यवस्था नहीं रहने के कारण कई लोग वापस गया में इलाज़ कराने निकल गए। बारात गया जिले के मालती गांव से नवादा के ओरैना गांव में स्व पिंटू सिंह के घर आई थी। 

शादी समारोह में भोजन करने के बाद 4 लोगों की हालत बिगड़ने लगी जिसमें बच्चे और युवा दोनों शामिल रहे. दस्त और उल्टी  से परेशान लोगों को नवादा को सदर अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया. परिजनों की माने तो अस्पताल में उपचार की उचित सुविधा नहीं थी जिसके कारण उन लोगों ने गया जाकर उपचार कराने का मन बनाया. गया के शेरघाटी के रहने वाले अंकू कुमार की पुत्री 7 वर्षीय राधिका कुमारी, 6 वर्षीय गोपाल कुमार, गया के मालती गांव के रहने वाले स्वर्गीय मसूदन सिंह का पुत्र राजू कुमार (25), तथा मालती गांव के अजीत सिंह का पुत्र 26 वर्षीय नंदू कुमार की तबीयत बिगड़ी थी। इसके अलावा कई अन्य लोगों की तबीयत भी मामूली स्तर पर खराब हुआ. 

नवादा सदर अस्पताल में व्यवस्थाएं पूरी तरह से बदहाल दिखी. अस्पताल में खाली बेड नहीं रहने के कारण बच्चे का जमीन पर ही इलाज किया गया। जिससे परिजनों में काफी आक्रोश दिखा। अंशु कुमार सिंह ने बताया कि नवादा सदर अस्पताल में व्यवस्था नहीं रहने के कारण हम लोगों को खामियाजा भुगतना पड़ा. बच्चे को जमीन पर ही लिटा कर इलाज करवाना पड़ा. अगर यहां पर हम लोग ज्यादा देर रहते तो हमारे बच्चे की जान भी जा सकती थी. इसलिए हम लोग तुरंत यहां से गया निकल गए. 

हालांकि इस मामले पर उपाधीक्षक ने बताया कि अस्पताल में पर्याप्त सुविधा है. अस्पताल में उपचार की बेहतर सुविधा नहीं होने का कारोप बेबुनियाद है. मरीजों के लिए पर्याप्त संख्या में बेड हैं. जो 4 लोग अस्पताल में दाखिल कराए गये उन सभी का उपचार किया गया. 


Find Us on Facebook

Trending News