प्रतिष्ठित कॉलेज में काम करने वाली फ्रॉड प्रियंका को पुलिस का प्राप्त था संरक्षण, एक साल से थी फरार, मामला खुला तो लोग आवाक रह गए...

प्रतिष्ठित कॉलेज में काम करने वाली फ्रॉड प्रियंका को पुलिस का प्राप्त था संरक्षण, एक साल से थी फरार, मामला खुला तो लोग आवाक रह गए...

डेस्क... बिहार के मधुबनी जिले में एक 10 साल की बच्ची काे बंधक बनाकर बाल मजदूरी कराया जा रहा था, जिसे पुलिस ने चाइल्ड लाइन मधुबनी की सूचना पर एक महिला के घर से मुक्त कराया। आरोपी महिला के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने कई और सनसनीखेज खुलासे किए हैं। पुलिस के मुताबिक आरोपी महिला पिछले एक साल के अधिक समय से फरार चल रही है। महिला के साथ एक अन्य व्यक्ति भी गिरफ्तार हुआ है। बताया जात है कि बच्ची जिस महिला के घर से बरामद हुई है उस आरोपी महिला पर पहले से ही ठगी का आरोप है। अचंभित करने वाली बात तो तब सामने निकल कर आई  जब यह पता चला कि महिला शहर के ही एक प्रतिष्ठित कॉलेज में काम कर रही थी और पुलिस को इसकी भनक तक नहीं लगी। 

फरार चल रही थी प्रियंका

बताया जाता है कि नोनिया टोल वार्ड नंबर 20 के एक फ्लैट में रहने वाली प्रियंका नाम की महिला विगत कई सालों से आरके कॉलेज में र्क्लक के पद कार्यरत थी और महिला के साथ सुपौल निवासी कुमार दिवाकर नाम का एक शख्स भी रह रहा था। बच्ची को बंधक बनाने वाले मामले में जब प्रियंका की गिरफ्तारी हुई तब खुद पुलिस ने ये खुलासा किया कि इसके ऊपर पहले से ठगी का मामला चल रहा है और पुलिस को इसकी तलाश थी। नगर थाना की कार्रवाई के बाद जो खुलासा पुलिस की ओर से हुआ वह और भी चौंकाने वाला था। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी महिला प्रियंका पर ठगी का आरोप है और वो पिछले एक साल से फरार चल रही है। आरोपी प्रियंका के ऊपर मधुबनी के ही गोपाल कुमार नाम के एक शख्स ने नौकरी के नाम पर ठगी करने का आरोप लगाया था, लेकिन मधुबनी पुलिस अब तक प्रियंका के ऊपर किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं कर पाई थी। नगर थानाध्यक्ष धर्मपाल ने बताया कि गिरफ्तार महिला प्रियंका के विरुद्ध 2019 में लोगों को नौकरी देने के नाम पर ठगी करने का मामला भी दर्ज था। जिसमें अपने निर्धारित ठिकानें से फरार चल रही थी। मिली जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार प्रियंका लगातार डर से अपना ठिकाना बदलती थी। वहीं, वर्ष 2019 में दर्ज मामला में बताया गया है कि प्रियंका मधुबनी आरके कॉलेज में शिक्षा शास्त्र विभाग में कार्यरत है, जो दर्जनों महिला व पुरुष से लाखों रुपए की ठगी कर चुकी है।

इस पूरे मामले को लेकर आरके कॉलेज के प्रिसिंपल ऐके मंडल ने बताया कि ये महिला पिछले साल से ही कॉलेज नहीं आ रही थी, लेकिन जब मुझे कल पता चला कि ये बाल मजदूरी के केस में पकड़ी गई है तब मैने भी जाना कि ये फरारी काट रही है। हालाकि इस एक साल की अवधि में प्रियंका के बारे में पुलिस ने कभी मुझसे कोई पूछताछ नहीं की है। अब मैंने कल की घटना के बाद अपने ऊपर के अधिकारियों को प्रियंका पर कार्रवाई के लिए अनुशंसा कर दिया है। 

वहीं, जब इस पूर मामले पर मधुबनी के एसपी का बयान लेना चाहा तो उनसे बात नहीं हो पाई, जबकि बुधवार को कार्रवाई के निर्देश देने वाले डीएसपी प्रभाकर तिवारी ने पूरे मामले में खुद को अंजान बता दिया। उन्होंने कहा कि कल जब बंधक बच्ची को छुड़ाया गया ये तो मुझे पता है लेकिन अभी आरोपी प्रियंका के बारे में ज्यादा डिटेल मुझे नहीं पता है, क्योंकि ये मेरे क्षेत्र का मामला नहीं है।

प्रियंका के पकड़े जाने के बाद कई सवाल उठने लगे हैं

1. प्रियंका का पहले से रहा है फ्रॉड का रिकॉर्ड, इसके बावजूद आरके कॉलेज में कैसे काम कर रही थी। 

2. आरके कॉलेज प्रिसिंपल के मुताबिक पिछले एक साल में पुलिस ने कभी प्रियंका को लेकर पूछताछ नहीं की। पुलिस की कार्रवाई संदेह के घरे में।

3. नगर थाना क्षेत्र से दो किमी की दूरी पर ही नोनिया स्थिति वार्ड 20 है, फिर भी पुलिस प्रियंका तक नहीं पहुंच पाई क्यों?

-------------------------------------------------------------------------------------------------------

प्रियंका के ऊपर ठगी का लगा था आराेप, FIR की कॉपी

प्रियंका के घर से बंधक बच्ची को कराया गया मुक्त

बताया जाता है कि नोनिया टोल वार्ड नंबर 20 के एक फ्लैट में रहने वाली प्रियंका नाम की महिला विगत कई सालों से आरके कॉलेज में र्क्लक के पद कार्यरत थी और महिला के साथ सुपौल निवासी कुमार दिवाकर नाम का एक शख्स भी रह रहा था। इस बीच बुधवार की सुबह नगर थाना पुलिस को चाइल्ड लाइन मुधबनी की ओर से सूचना मिली कि एक बच्ची से बाल मजदूरी कराया जा रहा है और उसको आए दिन प्रताड़ित किया जा रहा है। इस पर मधुबनी नगर थानाध्यक्ष धर्मपाल ने बताया कि कार्रवाई करते हुए उक्त महिला और उसके साथी पुरुष को गिरफ्तार कर लिया। नोनिया टोल स्थित रहने वाली प्रियंका के बारे में पुलिस ने बताया था कि उसने बच्ची को नेपाल से खरीदा था और ये अपने घर में नौकर कर काम करवाती थी । प्रियंका और उसके साथ आए दिन उसे प्रताड़ित करते थे। इस संबंध में चाइल्ड लाइन व पुलिस की ओर से जांच भी शुरू कर दिया गया है।







Find Us on Facebook

Trending News