लोगों के आक्रोश को देखते हुए पेट्रोल डीजल पर जल्द ही मोदी सरकार कर सकती है बड़ा फैसला

लोगों के आक्रोश को देखते हुए पेट्रोल डीजल पर जल्द ही मोदी सरकार कर सकती है बड़ा फैसला

NEW DELHI: पिछले एक महीने में पेट्रोल डीजल और गैस की कीमतों में हो रही बेतहाशा बढ़त ने जनता का मूड खराब कर रखा है. मोदी सरकार भी इस मिजाज को भांपने में जुट गई है. सत्ता में बैठी सरकार की चिंता और इसलिए बढ़ गई क्योंकि आने वाले समय में 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. अगर जनता के मूड में सकारात्मक बदलाव नहीं आया तो मोदी सरकार को आगे जाकर नुकसान उठाना पड़ सकता है. इसी बीच यह खबर आई है कि केंद्र सरकार पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी में कटौती करने की तैयारी कर रही है.

मौजूदा समय में पेट्रोल- डीजल की कीमतें आसमान छू रही हैं जिस वजह से आम आदमी की जेब पर ज्यादा बोझ पड़ रहा है. कच्चे तेल की कीमतें बीते 10 महीने में दोगुनी हो चुकी है जिसके वजह से काफी असर पड़ा है. देश में टैक्स और ड्यूटी के कारण पेट्रोल और डीजल के दाम में 60 फीसदी तक बढ़ोतरी हो जाती है. खबरों की माने तो वित्त मंत्रालय चाहता है कि अब जनता की जेब ज्यादा ढीली ना हो, जिसको लेकर जल्द ही कोई बड़ा फैसला लिया जा सकता है. हाल ही में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि वह यह नहीं बता सकती कि ईंधन पर टैक्स कब कम होगा. इसको लेकर राज्यों और केंद्र सरकार को टैक्स घटाने के लिए आपस में बात करनी होगी. 

केंद्र सरकार फिलहाल ऐसे उपायों को लेकर विचार कर रही है जिससे तेल की कीमतें स्थिर रखी जाए. बता दें कि पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर आधे से ज्यादा हिस्सा टैक्स का होता है, जिस वजह ये कीमतें रोज घटती- बढ़ती रहती है. सरकार टैक्स में कटौती करने से पहले कच्चे तेल की दाम की समीक्षा कर रही है. अगर कच्चे तेल की कीमतें स्थिर होती हैं तो आगे की राह आसान हो जाएगी. आपको बताते चलें कि ईंधन की आसमान छूती कीमतों का विरोध जनता से लेकर सेलेब्रिटी तक अपने अपने तरीके से कर रहे हैं. कई लोग सोशल मीडिया पर वीडियो और हैशटैग के जरिए विरोध जता चुके हैं. 

Find Us on Facebook

Trending News