चंदा का फंडा : साल भर में BJP ने जुटाए इतने करोड़ रुपए ,तोड़ा विश्व रिकॉर्ड , कांग्रेस के छुटे पसीने

चंदा का फंडा : साल भर में BJP ने जुटाए इतने करोड़ रुपए ,तोड़ा विश्व रिकॉर्ड , कांग्रेस के छुटे पसीने

BJP ने इस साल यानी 2018-2019 में सब से ज्यादा चंदा जुटाया है ।इस साल लगभग 800 करोड़ रुपए से अधिक का चंदा जुटाया है।BJP  को सब से बड़ा चंदा  356 करोड़ रुपए (Tata Group) द्वारा नियंत्रित संस्था प्रोग्रेसिव इलेक्टोरल ट्रस्ट ने दिया  है।  यह जानकारी बीजेपी ने चुनाव आयोग (Election Commission of India) में जमा किए गए दस्तावेजों में दी  है। राजनीतिक दलों द्वारा चुनावी ट्रस्टों के योगदान को आमतौर पर कॉर्पोरेट चंदे के रूप में पहचाना जाता है।वही कांग्रेस जुटा पाई सिर्फ 146 करोड़।


2018-19 में बीजेपी ने सभी चुनावी ट्रस्टों से लगभग 470 करोड़ रुपये प्राप्त किए, जबकि 2017-18 में उसे 167.80 करोड़ मिले थे। प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट, जिसने बीजेपी को 67.3 करोड़ रुपये का भुगतान किया, चुनावी ट्रस्टों में टाटा के बाद दूसरा सबसे बड़ा डोनेशन देना वाला ग्रुप है। भारती एयरटेल समूह इस ट्रस्ट का सबसे बड़ा योगदानकर्ता है, जो हीरो मोटोकॉर्प, जुबिलेंट फूडवर्क्स, ओरिएंट सीमेंट, डीएलएफ और जेके टायर्स द्वारा समर्थित है। जबकि प्रूडेंट इलेक्टोरल ट्रस्ट ने कांग्रेस को 39 करोड़ रुपए चंदा दिया।


बता दें कि बीजेपी को 800 करोड़ में से करीब 470 करोड़ रुपए इलेक्टोरल ट्रस्ट से आए हैं। वहीं आदित्य बिड़ला समूह के जनरल इलेक्टोरल ट्रस्ट ने बीजेपी को 28 और कांग्रेस को 2 करोड़ रुपए बतौर चंदा दिया। इसके साथ ही ट्रिम्फ इलेक्टोरल ट्रस्ट ने भगवा पार्टी को 5 करोड़, हार्मोनी ग्रुप ने 10 करोड़ और जनहित इलेक्टोरल ट्रस्ट व न्यू डेमोक्रेटिक इलेक्टोरल ट्रस्ट ने 2.5-2.5 करोड़ रुपए चंदे में दिए हैं। जबकि कांग्रेस को 146 करोड़ रुपए चंदे में से 98 करोड़ रुपए इलेक्टोरल ट्रस्ट से मिले हैं। 


आपको बताते चलें की देश के हर राजनीतिक दल चंदा लेते है। अगर चंदे की राशी 20,000 रुपए या इससे अधिक होती है या फिर जिसका पेमेंट चेक या ऑनलाइन किया गया हो तो चुनाव नियमों के मुताबिक, राजनीतिक दलों के लिए वित्त वर्ष के दौरान मिलने वाले कुल चंदे की जानकारी देना जरुरी है।


Find Us on Facebook

Trending News