रजरप्पा जाने के दौरान सड़क हादसे में मारे गए युवकों का किया गया अंतिम संस्कार, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

रजरप्पा जाने के दौरान सड़क हादसे में मारे गए युवकों का किया गया अंतिम संस्कार, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल

PATNA : रजरप्पा हादसे में जिंदा जले चारों युवकों का अंतिम संस्कार गुरुवार को झारखंड के रामगढ़ कैंट स्थित मुक्तिधाम गांधी घाट पर कर दिया गया। बुधवार को हुए इस दर्दनाक हादसे में पांचों युवकों का शरीर इस कदर झुलस गया था कि उनको पहचान पाना भी मुश्किल हो रहा था । पांचों युवकों के परिजन देर रात रामगढ़ थाना पहुंचे और गुरुवार को पोस्टमार्टम रूम से पांचों युवकों का जला हुआ शव के आये । हादसे में पांचों के शरीर पूरी तरह झुलस गए थे। 

शरीर का कुछ अंश ही शेष रह गया था। जिससे पहचानने में परिजनों को काफी कठिनाइयां हो रही थी। आलोक के चचेरे भाई नीतीश कुमार ने बताया कि आलोक की पहचान उनके शरीर के अंदर थोड़ा सा बचे हुए ब्लू कलर के अंडर गवर्नमेंट से हुआ। जबकि गोलू और राहुल की पहचान शरीर के आकार मोटे और पतले से की गई। सभी के शरीर को पोस्टमार्टम के बाद डीएनए टेस्ट के लिए शरीर के कुछ अंगों को सुरक्षित रखा गया है। मिली जानकारी के अनुसार डीएनए टेस्ट के लिए सुरक्षित रखे गए अंगों में किसी के शरीर की दांत तो किसी के शरीर के बाल को सुरक्षित रखा गया है। वही एक युवक के शरीर के खून को जबकि चौथे युवक के शरीर के पैर के हिस्से को टेस्ट के लिए सुरक्षित रखा गया है। घटना के बाद बुधवार की देर रात पांचों युवकों के परिजन रामगढ़ थाना पहुंचे और मुन्ना कुमार राय के भाई उदय कुमार ने रामगढ़ थाने में लिखित आवेदन देकर प्राथमिकी कराई है। 

दूसरी तरफ घटना में पांचों युवकों के परिजनों की स्थिति यह है कि कोई अपने बेटे तो कोई अपने पति के अंतिम दर्शन को तरस गया। परिजनों ने सपने में भी यह नहीं सोचा था कि घर से पूजा करने के लिए बोलकर निकला उनका बेटा कभी नहीं घर लौटेगा। गुरुवार को भी पांचों युवकों के घरों पर चूल्हा तक नहीं जला। ब्रह्मपुर, रानीपुर और बोचाचक के गांव में गुरुवार को भी मातमी सन्नाटा पसरा रहा। बताते चलें कि फुलवारी शरीफ बोचा चक से आलोक कुमार , ब्रह्मापुर से राज किशोर राय , मुन्ना राय , रानीपुर फुलवारी शरीफ से आर्यन कुमार उर्फ गोलू एवं नोहसा से राहुल कुमार मंगलवार को दोपहर अपनी गाड़ी वैगनआर से रजरप्पा स्थित मंदिर पूजा करने निकले थे। लोगों ने बताया कि आलोक कुमार सेकंड हैंड गाड़ी खरीदा था और पूजा करने के लिए अपने दोस्तों के साथ मंगलवार की दोपहर रजरप्पा के लिए रवाना हो गया। इस बीच धनबाद सड़क हादसे की सूचना बुधवार की सुबह इनके घरों पर पहुंची। हादसे में पांचों युवकों की मौत घटनास्थल पर ही गाड़ी में झुलस कर हो गई थी।

पटना से सुमित की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News